अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बरेली में बना 2,500 में लॉकडाउन पास, केस दर्ज

बरेली में बना 2,500 में लॉकडाउन पास
बरेली में बना 2,500 में लॉकडाउन पास

इस मामले में डीएम (DM) नीतीश कुमार का कहना है की उक्त ऑडियो से प्रसाशन की छवि धूमिल हुई है. चपरासी नन्हे लाल की हरकत के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है.

  • Share this:
बरेली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) घोषित है. इसी क्रम में बरेली (Bareilly) के कलेक्ट्रेट में मैन्युअल पास बनवाने वालों का रैकेट सक्रिय है. पास बनवाने के एवज में लोगों से ढाई हजार रुपए तक की वसूली की जा रही है. ऐसा ही एक ऑडियो वायरल होने के बाद बरेली से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया. इस मामले में कलेक्ट्रेट में तैनात एक चपरासी पर गाज गिरी है. डीएम ने आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. पूरा मामला एक ऑडियो के वायरल होने के बाद खुला है. रुपए की डिमांड करने वाली आवाज एडीएम प्रशासन के दफ्तर में काम करने वाली चपरासी की बताई जा रही है.

दरअसल देश भर में लॉकडाउन की वजह से लाखों लोग दूसरे शहरों में फंस गए. गोंडा जिले के शिव कुमार भी बरेली में अपने परिवार के साथ लॉकडाउन से दो दिन पहले रिश्तेदारी में बरेली आये थे और फिर लॉकडाउन के कारण बरेली में अपने परिवार के साथ फंस गए. शिव कुमार 15 दिनों से कलेक्ट्रेट में पास बनवाने के लिए चक्कर काट रहे थे. जिसके बाद एडीएम प्रशासन वीके सिंह के स्टाफ ने उनसे ढाई हजार रुपये मांगे और रुपये देने के बाद पास बन गया.

शिव कुमार ने फोन पर चपरासी नन्हे लाल से पास बनवाने की बात की. वहीं सबसे ज्यादा शर्मनाक बात ये हुई की उसका पास अंतिम संस्कार में जाने के लिए बनाया गया है. इस मामले में डीएम नीतीश कुमार का कहना है की उक्त ऑडियो से प्रसाशन की छवि धूमिल हुई है. चपरासी नन्हे लाल की हरकत के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है. और उसके खिलाफ शहर कोतवाली में एफआईआर दर्ज करवाई गई है.



वायरल ऑडियो में बातचीत
वादी: कैसे इनका परिवार जाएगा, कोई जुगाड़ करवाओ.

दलाल: 1500 रुपए होंगे.

वादी: अब कित्ते देने हैं.

चपरासी: मान नहीं रहा था, मैंने तरकीब बताई परिवार वाला मामला है, तो कहां की ढाई हजार से कम नहीं लूंगा. तब मैंने फोन किया, उन्होंने कहा कि जैसे चाहो कर दो.

वादी: कुछ तो कम करो 2 महीने से आप फंसे हुए हैं.

वादी अपने साथी से: 15 सो रुपए पहले दिए हैं, अब कितने मांग रहे हैं.

वादी का साथी: एक हजार रुपए हैं 500 रुपए देने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें:

उत्‍तर प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री नेपाल सिंह का हार्ट अटैक से निधन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज