UP News: अब बरेली के एक दलित हिंदू परिवार ने लिखा- यह मकान बिकाऊ है; लगाए गंभीर आरोप

बरेली में एक हिंदू परिवार ने दूसरे समुदाय के लोगों से परेशान होकर पलायन को मजबूर हैं

Bareilly News: गांव की रहने वाली एक महिला का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाले मुस्लिम परिवार का एक लड़का उनके घर में घुस आया और नहाते वक्त उनकी बेटी से छेड़छाड़ की. परिवार का कहना है कि जब उन्होंने इस बात की शिकायत थाने में की तो पुलिस ने महज 151 में आरोपियो का चालान कर दिया, जिससे उनको तुरंत जमानत मिल गई.

  • Share this:
बरेली. अलीगढ़ और हापुड़ के बाद अब बरेली के इज़्ज़तनगर में एक हिन्दू परिवार अपने गांव से पलायन (Exodus) करने को मजबूर है. उसका आरोप है कि दूसरे धर्म के लोगों ने उनका रहना मुश्किल कर दिया है. उनकी बेटी के साथ छेड़खानी की और विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी दे रहे है. पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस (Police) भी उनकी नहीं सुन रही है. वहीं, स्‍थानीय पुलिस ने परिजनों के आरोपों को खारिज किया है.

घर के बाहर लिखा हुआ 'यह मकान बिकाऊ है' का वायरल वीडियो इज़्ज़तनगर थाना क्षेत्र के नगरिया कला की है. यह गांव मुस्लिम बाहुल्य है और यहां पर हिन्दू परिवार बहुत ही कम हैं. इसी गांव की रहने वाली एक महिला का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाले मुस्लिम परिवार का एक लड़का उनके घर में घुस आया और नहाते वक्त उनकी बेटी से छेड़छाड़ की. परिवार का कहना है कि जब उन्होंने इस बात की शिकायत थाने में की तो पुलिस ने महज 151 में आरोपियो का चालान कर दिया जिससे उनको तुरंत जमानत मिल गई. इसके बाद आरोपी कह रहे हैं कि तुम्‍हें गांव में रहने नहीं देंगे. डर के कारण अब परिवार ने गांव का मकान बेचकर कहीं और जाने की सोच ली है.

पीड़ित किशोरी का है ये आरोप
पीड़ित किशोरी की मां का आरोप है कि उन्होंने इस मामले की शिकायत एसएसपी से की लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. पीड़ित परिवार दलित है, जिस वजह से आरोपी उसे जातिसूचक शब्द भी बोलते है. पीड़िता का कहना है कि जब वह नहा रही थी तभी पड़ोस में रहने वाला लड़का उसके घर में घुस आया और उसके साथ छेड़खानी की. चिल्लाने पर उसका मुंह बंद कर दिया.

एसएसपी ने कही ये बात
इस मामले में एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि कुछ दिनों पहले जो परिवार घर बेचने की बात कह रहा है, उसने दूसरे समुदाय के खेत में टेंट लगाकर शादी समारोह किया था और गंदगी खेत में ही छोड़ दी थी. इस बात को लेकर विवाद हुआ था, जिसमें पुलिस ने शांति भंग की  कार्रवाई की थी. अब इसे साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश की जा रही है. पंचायत चुनाव में हारने की वजह से हारा हुआ प्रधान इस परिवार को ढाल बनाकर इस तरह की कहानी गढ़ रहा है. उनका कहना है कि इस मामले में दोषियो के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
Published by:Amit Tiwari
First published: