Home /News /uttar-pradesh /

खूंखार बंदर! नदी किनारे खेल रही बच्ची पर अचानक कर दिया हमला, नोच-नोच कर ले ली जान

खूंखार बंदर! नदी किनारे खेल रही बच्ची पर अचानक कर दिया हमला, नोच-नोच कर ले ली जान

Bareilly News: बरेली में बंदरों ने एक मासूम बच्ची को मार डाला.

Bareilly News: बरेली में बंदरों ने एक मासूम बच्ची को मार डाला.

Monster Monkey In Bareilly: डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची को बंदरों ने बुरी तरह नोच-नोचकर जख्मी कर दिया था. जिससे उसके शरीर का खून अत्यधिक मात्रा में बह गया और उसे बचाया नहीं जा सका. मासूम नर्मदा अपने दो भाइयों के बीच इकलौती थी. इस हादसे के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

अधिक पढ़ें ...

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र की नकटिया नदी किनारे खेल रही पांच वर्षीय बच्ची पर बंदरों के झुंड ने हमला (Monkey Attack) कर दिया. बंदरों के हमले से बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई. बच्ची के साथ खेल रहे अन्य बच्चों ने इसकी जानकारी ग्रामीणों और परिजनों को दी. जब तक लोग मौके पर पहुंचते, बंदरों ने बच्ची को बुरी तरह से नोच डाला था. आनन-फानन में घायल बच्ची को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. बच्ची की मौत के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. अब गांव के लोग नकटिया नदी की तरफ जाने से भी डर महसूस कर रहे हैं.

दरअसल, बिथरी चैनपुर के बिचपुरी गांव के पास नकटिया नदी है. उसी गांव के नंदकिशोर मजदूरी करके बच्चों का पालन पोषण करते हैं. उनकी पत्नी लोगों के घरों में कामकाज करके परिवार चलाने में मदद देती हैं. नंदकिशोर और उनकी पत्नी काम पर गए हुए थे और उनकी बच्ची गांव के बच्चों के साथ नदी किनारे खेल रही थी. इसी बीच बंदरों ने उस पर हमला कर दिया. उसके साथ खेल रहे बच्चे भागकर गांव पहुंचे, मगर नर्मदा को बंदरों ने दबोच लिया था. बच्चों की पुकार पर ग्रामीण नदी की तरफ दौड़े और लाठियां फटका कर बंदरों को भगाया. खून से लथपथ नर्मदा को देखकर उनकी रुह कांप गई. गंभीर हालत में उसे लेकर तुरंत ग्रामीण अस्पताल की ओर दौड़े. निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया, मगर कुछ देर बाद ही बच्ची की मौत हो गई. डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची को बंदरों ने बुरी तरह नोचकर जख्मी कर दिया था, जिससे उसके शरीर का खून अत्यधिक मात्रा में बह गया और उसे बचाया नहीं जा सका. मासूम नर्मदा अपने दो भाइयों के बीच इकलौती थी. इस हादसे के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

गांव में है बंदरों का आतंक

बच्ची की मौत के बाद ग्रामीणों का कहना है कि गांव में बंदरों की तादाद लगातार बढ़ रही है. ऐसे में कई बार अफसरों से बंदर पकड़ने की गुहार लगाई गई लेकिन कोई असर नहीं हुआ. बंदरों के कारण ग्रामीणों की फसलों को भी नुकसान हो रहा है. बंदरों से फसल बचाने के लिए ग्रामीण दिन और रात में पहरा देते हैं. साथ ही उनका यह भी कहना है कि इस घटना के बाद से उनके मन में यह भी डर है कि अगर उनके बच्चे स्कूल गए तो शरारती बंदर उनके बच्चों पर हमला न कर दें. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले सीबीगंज इलाके में भी कुछ आवारा कुत्तों ने कई मासूम बच्चों को काटकर चोटिल कर दिया था. उसके बाद भी नगर निगम की तरफ से आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए कोई विशेष अभियान नहीं चलाया गया था.

Tags: Bareilly city news, Monkeys problem, ​​Uttar Pradesh News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर