बरेली: रहस्यमय बुखार से 27 लोगों की मौत, गांव पहुंचा डाॅक्टरों का दल

हालात यह है कि सीएचसी मझगवां पर प्रत्येक दिन 600-700 बुखार से पीड़ित मरीज पहुंच रहे हैं. चिकित्सक इन्हीं को नहीं देख पा रहे हैं. ऐसे में गांव में कैम्प करना मुश्किल है.

HARISH SHARMA | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 12:06 PM IST
बरेली: रहस्यमय बुखार से 27 लोगों की मौत, गांव पहुंचा डाॅक्टरों का दल
अस्पताल में भर्ती मरीज
HARISH SHARMA | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 12:06 PM IST
बरेली में रहस्यमय बुखार से 27 लोगों की मौत का मामला सामने आया है. इसके बाद अस्पताल और प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. मौतों की सूचना मिलते ही डाॅक्टरों का दल गांव में पहुंचा और वहां कैंप कर रहा है.

योगी सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल भी शनिवार को बरेली पहुंचे और जिला अस्पताल का जायजा लिया. जिला अस्पताल की हालत देखकर खुद वित्त मंत्री ठिठक गए और डॉक्टरों पर जमकर बरसे. वहीं, महिला अस्पताल के निरीक्षण के बाद सीएमएस के खिलाफ कार्रवाई करने की धमकी दी है.

हालात यह है कि सीएचसी मझगवां पर प्रत्येक दिन 600-700 बुखार से पीड़ित मरीज पहुंच रहे हैं. चिकित्सक इन्हीं को नहीं देख पा रहे हैं. ऐसे में गांव में कैम्प करना मुश्किल है. डॉ. वैभव राठौर ने बताया कि गुरुवार को ग्राम मण्डोरा में कैम्प लगाकर दवाइयां बांटी गईं थी.

जिला अस्पताल का दौरा करने पहुंचे वित्त मंत्री से मरीजों ने बताया कि उन्हें यहां पर दवाएं नहीं मिल रही और डॉक्टर भी समय पर मरीजों को अस्पताल नहीं पहुंचते हैं. वहीं, भीषण गर्मी में पंखे जैसी मूलभूत सुविधा भी अस्पताल में मौजूद नहीं है. जिला अस्पताल की अस्त-व्यस्त हालत के लिए वित्तमंत्री ने सीएमएस को जमकर फटकार लगाई है. कुछ ऐसा ही हाल महिला अस्पताल का मिला, जिसके बाद मंत्री ने सीएमएस साधना सक्सेना को छुट्टी पर भेजने की धमकी दी है.

कैंप करती डॉक्टरों की टीम


बता दें कि बरेली की आंवला, मीरगंज, बहेड़ी तहसील के कई गांव वायरल बुखार की चपेट में हैं और आंवला क्षेत्र में पिछले 10 दिनों में 27 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं. वहीं फरीदपुर में 22 और बहेड़ी से 6 लोगों की मरने की खबरे पहले ही मीडिया में सुर्खियां बन चुकी है.

यह भी पढ़ें:

शाहजहांपुर: बिजली गिरने से 5 बच्चों समेत 7 लोगों की मौत

UPSSSC: नलकूप चालक की परीक्षा का पेपर हुआ लीक, एसटीएफ को सौंपी जांच

लॉकअप के अंदर आरोपी ने काटी गर्दन, बोला-मै कभी लड़की नहीं छेड़ सकता

 

 

 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर