Home /News /uttar-pradesh /

up government will purchased cow dung from farmers to making cng says dharampal singh nodark

सीएम योगी के मंत्री का ऐलान, यूपी सरकार किसानों से 1.50 रुपये किलो खरीदेगी गाय का गोबर, जानें क्‍यों?

धर्मपाल सिंह के पास पशुधन विभाग की जिम्‍मेदारी है.

धर्मपाल सिंह के पास पशुधन विभाग की जिम्‍मेदारी है.

UP News: यूपी के पशुपालन एवं दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा है कि राज्य में गाय के गोबर से सीएनजी बनाने का काम जल्द शुरू किया जाएगा. इसके लिए यूपी सरकार किसानों से 1.50 रुपये प्रति किलो की दर से गाय का गोबर खरीदेगी.

बरेली. उत्तर प्रदेश के पशुपालन एवं दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह ने सोमवार को कहा कि राज्य में गाय के गोबर से सीएनजी बनाने का काम जल्द शुरू किया जाएगा. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सीएनजी बनाने के लिए किसानों से 1.50 रुपये प्रति किलो की दर से गाय का गोबर खरीदा जाएगा. साथ ही उन्‍होंने बताया कि इस परियोजना के लिए मॉडल के रूप में बरेली को चुना गया है.

बरेली विकास भवन में अधिकारियों के साथ बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए धर्मपाल सिंह ने दावा किया कि प्रदेश में एक साल के भीतर सड़कों पर घूमने वाले और किसानों के खेत में घुसने वाले पशुओं की समस्या समाप्त हो जाएगी.

यूपी विधानसभा चुनाव में आवारा मवेशी एक प्रमुख चुनावी मुद्दा था
बता दें कि हाल ही में संपन्न यूपी विधानसभा चुनावों में आवारा मवेशी एक प्रमुख चुनावी मुद्दा था, जिसके लिए विपक्षी दलों ने चुनाव प्रचार के दौरान योगी सरकार को निशाना बनाया था. इस समस्या का संज्ञान लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि आवारा पशुओं के कारण राज्य के किसानों को हो रही समस्या को गंभीरता से लिया जा रहा है.

इसके साथ पीएम ने यह भी वादा किया था कि 10 मार्च को आदर्श आचार संहिता समाप्त होने और नई सरकार बनने के बाद इस समस्या का समाधान किया जाएगा. पशुपालन एवं दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह ने यह भी कहा कि गायों को ‘गौशालाओं’ और ‘गौ अभ्यारण केंद्र’ में रखा जाएगा और गौ अभ्यारण केंद्र बनाने का कार्य किया जा रहा है.

Tags: Dharampal singh, UP Government, Yogi adityanath

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर