भ्रष्टाचार के आरोप में BJP पार्षद के खिलाफ दर्ज हुई FIR तो धरने पर बैठ गए नेता

पोर्टेबल शॉप प्रकरण से जुड़े भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी पार्षद और व्यापारी नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 5:18 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 5:18 PM IST
उत्तर प्रदेश का बरेली नगर निगम परिसर इस समय राजनीतिक लड़ाई का अखाड़ा बन गया है. दरअसल पोर्टेबल शॉप प्रकरण से जुड़े भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी पार्षद और व्यापारी नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है. जिसके विरोध में पार्षद पिछले 15 दिनों से निगम परिसर में ही धरने पर बैठे हैं. लगातार हो रहे धरने प्रदर्शन के चलते नगर आयुक्त अपने ऑफिस में नहीं जा पा रहे हैं. जिला प्रशासन ने बढ़ती आराजकता को देखते हुए नगर निगम में धारा 144 लागू कर दी है. बावजूद इसके पार्षदों का धरना प्रदर्शन समाप्त नहीं हुआ है.

बरेली के सिटी मजिस्ट्रेट संजय कुमार और निगम के कार्यालय अधीक्षक ने शहर कोतवाली में तहरीर देकर पार्षदों पर नगर आयुक्त का पुतला फूंकने, थूकने व अपमानित करने और धारा 144 के उल्लंघन सहित कई अपराधिक कानून के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई है . अफसरों ने निगम के 18 पार्षदों के साथ उपसभापति अतुल कपूर पर भी गंभीर धाराओं में एफआईआर कराई है.

सिटी मजिस्ट्रेट की तहरीर में साफ तौर पर लिखा है, कि नगर निगम में धारा 144 प्रभावी होने के बावजूद पार्षद और भाजपा नेताओं ने निगम में धरना प्रदर्शन किया और लाउडस्पीकर लगाकर शांति व्यवस्था भंग कर धारा 144 का उल्लंघन किया. गौरतलब है कि सिटी मजिस्ट्रेट संजय कुमार ने बीती 11 जून को नगर निगम परिसर व उसके मुख्य मार्ग से 200 मीटर की परिधि में धारा 144 को लागू किया था.

हालांकि धारा 144 लागू होने के बावजूद भाजपा पार्षद अजय चौहान, चमन सक्सेना, हरिओम सक्सेना, अवनीश कुमार, सीताराम रघुवंशी, प्रमोद कुमार, अमित कुमार, विनोद सैनी सहित दर्जनों लोगों ने धरना प्रदर्शन किया और तेज आवाज में नारेबाजी की, जिससे निगम का कार्य भी प्रभावित हुआ . जिला प्रशासन द्वारा मुकदमा लिखवाए जाने के बाद एक बार फिर अफसरों और पार्षदों में विवाद बढ़ता हुआ नजर आ रहा है. (रिपोर्ट-हरीश शर्मा)

ये भी पढ़ें: राम जन्मभूमि आतंकी हमले पर 18 जून को आ सकता है फैसला, सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...