बरेली: दारोगा ने फटकार लगाकर थाने से भगाया, नहीं मिला इंसाफ तो पीड़ित पिता ने की खुदकुशी

दारोगा ने फटकार लगाकर थाने से भगाया

दारोगा ने फटकार लगाकर थाने से भगाया

उधर घटना के बाद एसएसपी (SSP) रोहित सिंह सजवान का कहना है कि आज सुबह सूचना मिली थी कि गांव में एक युवक ने सुसाइड कर लिया है.

  • Share this:
बरेली. बरेली जिले में थाना आंवला क्षेत्र के मऊ चन्द्रपुर गांव में प्रेम युगल गांव से फरार हो गए. युवती के पिता ने बीती 9 अप्रेल को पड़ोसी युवक के खिलाफ अपहरण की धाराओं में एफआईआर दर्ज करा दी. बावजूद चौकी इंचार्ज ने पीडित पिता की कोई मदद नहीं की. इसके अलावा उसको ही बेइज्जत कर चौकी से भगा दिया. सामाजिक बदनामी और पुलिस की बेइज्जती से परेशान युवक ने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तो ग्रामीणों ने रामनगर चौकी इंचार्ज के साथ अभद्रता कर दी. फिलहाल पुलिस ने विधायक की मदद से स्थानीय लोगों को समझा बुझाकर शांत किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. दारोगा पर लापरवाही और रिश्वत मांगने के आरोपों के बाद एसएसपी ने दारोगा रामरतन को लाइन हाजिर कर दिया है.

बता दें कि आंवला के गांव चंद्रपुर निवासी शिशुपाल अपने परिवार के साथ पिछले कई वर्षों से रह रहे हैं. बताया जा रहा है कि उनकी एक बेटी का अपनी ही पड़ोसी युवक से प्रेम- प्रसंग चल रहा था. जिस वजह से एक सप्ताह पहले वह अपने प्रेमी के साथ गांव छोड़ कर चली गई. परिजनों ने बीती 9 अप्रैल को पड़ोसी युवक के खिलाफ अपहरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया. पीड़ित परिवार लगातार पुलिस से कार्रवाई की मांग कर रहा था. लेकिन चौकी इंचार्ज रामरतन सिंह पीड़ित परिवार से ही कार्रवाई के नाम पर रिश्वत मांग रहे थे, रिश्वत न देने पर चौकी इंचार्ज ने पीड़ित पक्ष की कोई मदद नहीं की.

UP: काशी विश्वनाथ मंदिर-मस्जिद विवाद पर फैसला देने वाले जज का तबादला, भेजे गए शाहजहांपुर

आरोप यह भी है कि बाद में कर्ज लेकर युवती के पिता ने दारोगा को रिश्वत के पैसे भी दे दिए, बावजूद दारोगा ने उनकी कोई मदद नहीं की और चौकी से बेज्जत करके भगा दिया. जिस से आहत होकर शिशुपाल ने सोमवार सुबह फांसी पर लटक कर अपनी जान दे दी. घटना स्थल से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है उसमें भी दरोगा पर रिश्वत के आरोप लगे है. लेकिन पुलिस अधिकारी सुसाइड नोट को संदिग्ध मान रहे है. घटना की जानकारी मिलने के बाद थाना पुलिस जैसे ही गांव में पहुंचे तो गांव के लोग चौकी इंचार्ज को देखते ही आग बबूला हो गए. उन्होंने पुलिस के साथ अभद्रता की और चौकी इंचार्ज को मौके से भगा दिया.
जांच के बाद दारोगा पर होगी कार्रवाई

उधर घटना के बाद एसएसपी रोहित सिंह सजवान का कहना है कि आज सुबह सूचना मिली थी कि गांव में एक युवक ने सुसाइड कर लिया है. उस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची. दरोगा पर रिश्वत के आरोप लगाए गए हैं. दरोगा को थाने से हटा दिया गया है. इसके अलावा इस पूरे प्रकरण में पहले से ही मुकदमा दर्ज है. दोषी लोगों के खिलाफ एसपी देहात जांच कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि अगर दरोगा भी दोषी मिले तो उन पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज