कबीर तिवारी हत्याकांड में उछले कई छात्र नेताओं के नाम, अब तक दो गिरफ्तार
Basti News in Hindi

कबीर तिवारी हत्याकांड में उछले कई छात्र नेताओं के नाम, अब तक दो गिरफ्तार
बीजेपी नेता और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी को दिनदहाड़े बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

बुधवार को बीजेपी नेता (BJP Leader) और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी (Kabir Tiwari) को दिनदहाड़े बदमाशों ने गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी थी.

  • Share this:
बस्ती. यूपी के बस्ती (Basti) जिले में बुधवार को बीजेपी नेता (BJP Leader) और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी (Kabir Tiwari) को दिनदहाड़े बदमाशों ने गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी थी. हत्या के विरोध में कबीर के समर्थक उग्र हो गए और शहर में कई जगह जमकर तोड़फोड़ की घटना सामने आई. इस मामले में पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, इसके अलावा पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने 8 नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.

बताया जा रहा है कि तीन-चार दिन पहले छात्रों के दो गुटों में एपीएम पीजी कालेज के गेट पर मारपीट हुई थी. इसलिए परिजनों को शक है की इन्ही लोगों ने हत्याकाण्ड की साजिश रची है. जिसके चलते परिजनों ने पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अमन प्रताप सिंह सहित अक्षय प्रताप सिंह, अभिजीत सिंह, मो. शाद, साहिल सिंह, इमरान और दो अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है. पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.

नाकाम रही पुलिस
वहीं दिन दहाड़े गोली मार कर हत्या की घटना के बाद हुई आगजनी और तोड़फोड़ रोकने में पुलिस नाकाम रही. जिसके बाद शासन ने एडीजी आशुतोष पाण्डेय को विशेष जांच अधिकारी बना कर भेजा मामले की बेहतर जांच के लिए भेजा है. एडीजी ने आगजनी और तोड़फोड़ वाली जगह का निरीक्षण किया. उन्होंने कहा कि छात्र नेता हत्या की ये घटना बहुत ही गंभीर थी. शासन ने इस घटना को काफी गंभीरता से लिया.
बीजेपी नेता और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी की गोली मारकर हत्या.




उन्होंने कहा कि डीजीपी के निर्देश पर मैं यहां आया हूं. डीजीपी और प्रमुख सचिव गृह ने भी इस घटना को काफी गंभीरता से लिया, सभी लोग चाहते हैं कि जो ये गंभीर घटना हुई है, हम इसके सभी पहलुओं की स्टडी कर रहे हैं कि कहां पर चूक हुई. इस के अलावा जो घटनाएं आगजनी और तोड़फोड़ की हुई हैं, हमारी जांच टीम इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मीडिया में जो दिखाया जा रहा है, छपा है उसकी कापी ले रहे हैं, ताकि हम उस वीडियो और फोटोग्राफ से सही पहचान करा सकें कि कौन लोग तोड़फोड़ में शामिल थे.

एडीजी करेंगे जांच कि क्यों नहीं हुई कार्रवाई
इस के साथ ही एडीजी ने कहा कि कुछ दिन पहले दो छात्र गुटों में मारपीट की घटना हुई थी. उस में पुलिस के द्वारा अच्छी कार्रवाई नहीं हुई, इस तरह की जो घटनाएं हुई उसमें कार्रवाई क्यों नहीं हुई और कौन आरोपी थे, इन सभी चीजों की हम जांच कर रहे हैं.

इसके अलावा इस मामले में सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा कि उन्होंने एडीजी के साथ मुलाकात कर इस हत्याकांड का खुलासा जल्द से जल्द करने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि ये एक दुखद घटना है, इसमें जो भी शामिल पाया जाएगा उस पर कानूनी तौर पर ठोस कदम उठाए जाएंगे.

(इनपुट: हिफजुर रहमान)

ये भी पढ़ें:

BJP नेता को बदमाशों ने दिनदहाड़े गोली मारी, इलाज के लिए लखनऊ ले जाते समय मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज