कर्ज से परेशान परिवार के 4 लोगों ने खाया जहर, चारों की मौत

इलाज के दौरान जिला अस्पताल में तीन की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि एक लड़की को गंभीर हालत गंभीर हालत में गोरखपुर रेफर किया गया है जहां पर इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 5, 2018, 9:14 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 5, 2018, 9:14 PM IST
उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के सदर कोतवाली के भुअर निरंजनपुर गांव से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. कर्ज से परेशान एक ही परिवार के चार सदस्यों ने जहर खा लिया, जिन्हें गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. इलाज के दौरान जिला अस्पताल में तीन की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि एक लड़की को गंभीर हालत गंभीर हालत में गोरखपुर रेफर किया गया है जहां पर इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई.

शिवकुमार अपनी पत्नी मीना और दो बच्चों आयुष और महक के साथ किराए के मकान में रहते थे. वे गोण्डा जिले के रहने वाले थे. कई साल पहले गोण्डा का बिजनेस और मकान कर्ज की वजह से समाप्त हो गया. इसके बाद शिव कुमार बस्ती चले आए यहां पर उन्होंने अपना मकान बना लिया. बाद में इनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई. कर्ज के कारण बैंक ने घर नीलाम करा दिया.

किराए के मकान में रहने लगे शिवकुमार
इसके बाद शिवकुमार किराए के मकान में परिवार के साथ रहने लगे. बैंक का कर्ज और आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से परिवार के चारों सदस्यों ने एक साथ जहर खा लिया जिसमें शिवकुमार उनकी पत्नी और बेटे की बस्ती जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. जबकि बेटी महक को गंभीर हालत में गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर किया गया था जहां इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया.

20 लाख का था कर्ज
सूचना के बाद मौके पर पहुंचे एसपी ने घटनास्थल का मुआयना किया. एएसपी पंकज का कहना है कि लड़की की स्थिति ठीक थी. उससे जब घटना के बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि बैंक से कर्ज ज्यादा हो गया था. इनके एक परिजन ने बताया कि बैंक से लगभग 20 लाख का कर्ज हो गया था.

इन लोगों ने किसी को इस के बारे में बताया नहीं था. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटनास्थल को सीज कर दिया गया है. फारेंसिक टीम ने घटना स्थल से सबूत जुटाए हैं. पुलिस मामले की जांच कर रही है. इस हृदय विदारक घटना ने सबकी आंखें नम कर दीं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर