लाइव टीवी

BJP सांसद का विवादित बयान, 'वेतन से नहीं चलता खर्च, चोरी तो करनी ही पड़ेगी'

HIFZUR RAHMAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 7, 2019, 11:39 AM IST

बता दें कि एक सांसद को हर महीने 50 हजार रुपये सैलरी मिलने के अलावा कई अन्य तरह के भत्ते भी मिलते हैं. इन भत्तों में 45000 रुपये संसदीय क्षेत्र भत्ता, 45000 रुपये कार्यालय भत्ता मिलता है.

  • Share this:
यूपी के बस्ती लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी का विवादित बयान सामने आया है. जहां  उन्होंने बस्ती के जिला पंचायत सभागार में आयोजित युवा संवाद में एक बार फिर नेताओं को वर्तमान व्यवस्था में कमी के चलते चोरी करने की बात कही. उन्होंने मंत्रियों, राजनेताओं के खर्च के बारे में कहा कि वेतन से कोई सांसद, मंत्री अपना चुनाव क्षेत्र नहीं चला सकता. उसके लिए धन प्राप्ति के लिए अन्य उपाय करने पड़ते हैं. इस मौके पर जिलाधिकारी राजशेखर भी मौजूद थे.

पार्लियामेंट्री सिस्टम पर उंगली उठाते हुए बीजेपी सांसद द्विवेदी ने कहा कि एक सांसद को बारह कर्मचारियों की आवश्यकता है, लेकिन वेतन वरिष्ठ प्राइमरी के अध्यापक से भी कम है तो चोरी तो करनी ही पड़ेगी. इतना ही नहीं उन्होंने पार्टी के बड़े नेताओं से इस विषय पर चर्चा भी करने की बात कही, साथ ही केजरीवाल सरकार द्वारा विधानसभा में भत्ते बढ़ाने की प्रशंसा भी की.

बता दें कि एक सांसद को हर महीने 50 हजार रुपये सैलरी मिलने के अलावा कई अन्य तरह के भत्ते भी मिलते हैं. इन भत्तों में 45000 रुपये संसदीय क्षेत्र भत्ता, 45000 रुपये कार्यालय भत्ता मिलता है. यहीं नहीं संसद सत्र के दौरान सदन का अलग भत्ता मिलता है. कुल खर्चे की बात करें तो एक सांसद पर हर महीने लगभग 2.70 लाख रुपये खर्च होते हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...

ये भी पढ़ें:

राजभर और अनुप्रिया ने लखनऊ में बुलाई बैठक, 2019 चुनाव को लेकर होगा मंथन

लोकसभा चुनाव 2019: 'सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस के शामिल न होने से BJP को फायदा'

संभल: संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ पर लटकी मिली दो सगी बहनों की लाश

अवैध खनन मामले में वर्चस्व को लेकर 'बुंदेलखंड' ने देखी हैं ताबड़तोड़ हत्याएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बस्ती से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2019, 11:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...