बस्ती मेडिकल कॉलेज भर्ती: 175 सीटों में से 108 पदों के लिए सांसद, विधायकों ने लिखी सिफारिशी चिट्ठी

आरोप लगा है कि पूरी भर्ती प्रक्रिया संसद, विधायक व जिलाध्यक्ष के लेटर हेड पर हो रही है. लिहाजा मेडिकल कॉलेज में होने वाली भर्ती प्रक्रिया पर ही सवाल उठने खड़े हो गए हैं.

HIFZUR RAHMAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2019, 11:16 AM IST
बस्ती मेडिकल कॉलेज भर्ती: 175 सीटों में से 108 पदों के लिए सांसद, विधायकों ने लिखी सिफारिशी चिट्ठी
महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कॉलेज बस्ती
HIFZUR RAHMAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2019, 11:16 AM IST
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) भले ही मंत्री और पार्टी विधायकों को ट्रांसफर-पोस्टिंग में हो रहे भ्रष्टाचार से दूर रहने की हिदायत दी हो, लेकिन इसका असर जमीन पर दिखाई होता नहीं दिख रहा है. ताजा मामला बस्ती (Basti) जनपद में महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कॉलेज (Mahrshi Vashishth Medical College) का है, जहां आउटसोर्सिंग के माध्यम से 175 पदों पर नियुक्तियां होनी है. लेकिन पूरी भर्ती प्रक्रिया ही सत्तारूढ़ माननीयों के भेंट चढ़ते दिख रही है. आरोप लगा है कि पूरी भर्ती प्रक्रिया संसद, विधायक व जिलाध्यक्ष के लेटर हेड पर हो रही है. लिहाजा मेडिकल कॉलेज में होने वाली भर्ती प्रक्रिया पर ही सवाल उठने खड़े हो गए हैं.

108 नामों की सिफारिश

आरोप है कि बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी, विधायक अजय सिंह व दयाराम चौधरी और जिलाध्यक्ष पवन कसोधन ने अपने-अपने लेटर हेड पर 108 नामों को सूची अलग-अलग पदों पर करने की सिफारिश मेडिकल कॉलेज के प्रिसिपल को भेजी हैं. अगर इन सिफारिश पर भर्तियां होती हैं तो यह प्रतिभावान अभ्यर्थियों के साथ अन्याय होगा.

Basti medical college recruitment
मेडिकल कॉलेज में भर्ती के लिए सांसद व विधायकों ने लिखी सिफारिशी चिट्ठी


प्राचार्य ने किया बचाव

मामले में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ नवनीत माननीयों का बचाव करते नजर आए. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है सांसद और विधायक सभी का पत्र हमेशा आते रहता है. हमने ही कहा था कि बस्ती में स्थानीय लोगों की ही नियुक्तियां होनी चाहिए. हो सकता है कि इसी वजह से जनहित में ये पत्र लिखे गए हों. वैसे मेरे पास सैकड़ों पत्र आते हैं.

basti medical college recruitment
बस्ती मेडिकल कॉलेज में भर्ती के लिए माननीयों के पत्र वायरल है.

Loading...

डॉ नवनीत ने कहा कि भर्ती प्रक्रिया में उनका कोई रोल नहीं है. दिल्ली की एक एजेंसी गुपचुप तरीके से भर्तियां कर रही है. वो जिसे चयनित करके भेजेगी उसे रख लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि सांसद और विधायकों ने जो भी पत्र लिखा है. हो सकता है कि व जनहित में बस्ती के लोगों को ही नौकरी मिले इसके लिए लिखा हो.

ये भी पढ़ें:

विभागों के बंटवारे में भी CM योगी आदित्यनाथ की 'सर्जरी', इनके कतरे पर...

सीतापुर कांड: छेड़छाड़ का विरोध करने पर जिंदा जलाई गई नाबालिग ने तोड़ा दम

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बस्ती से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 11:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...