लाइव टीवी

बीजेपी नेता कबीर तिवारी हत्याकांड की होगी उच्चस्तरीय जांच: कानून मंत्री

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 11, 2019, 4:43 PM IST
बीजेपी नेता कबीर तिवारी हत्याकांड की होगी उच्चस्तरीय जांच: कानून मंत्री
बस्ती में बीजेपी नेता कबीर तिवारी हत्याकांड में कानून मंत्री ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश देने की बात कही है.

यूपी के कानून मंत्री (UP Law Minister) ब्रजेश पाठक ने कहा कि वह कबीर तिवारी हत्याकांड (Kabir Tiwari Murder case ) के पूरे मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाएंगे. इसमें पुलिस की भूमिका की भी जांच कराई जाएगी.

  • Share this:
बस्ती. उत्तर प्रदेश के कानून मंत्री (Law minister) ब्रजेश पाठक शुक्रवार को बस्ती (Basti) में दिवंगत बीजेपी नेता कबीर तिवारी (Kabir Tiwari) के गांव ऐंठी पहुंचे. यहां कानून मंत्री ने उनके परिजनों को सांत्वना दी और आश्वासन दिया कि इस हत्याकांड की उच्च स्तरीय जांच की जाएगी. कानून मंत्री ने कहा कि वह इस पूरे मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाएंगे. इसमें पुलिस की भूमिका की भी जांच कराई जाएगी. इस दौरान बस्ती से बीजेपी सांसद हरीश दि्ववेदी (BJP MP Satish Dwivedi) ने पुलिस अधीक्षक की भूमिका पर सवाल उठाते हुए मांग की कि उनके खिलाफ 120बी के तहत मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए.

बता दें बीजेपी नेता और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी की बस्ती में दिनदहाड़े बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. हत्या के विरोध में कबीर के समर्थक उग्र हो गए और शहर में कई जगह जमकर तोड़फोड़ की घटना सामने आई. इस मामले में पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, इसके अलावा पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने 8 नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.



पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष सहित कई छात्रनेताओं के भूमिका की जांच
Loading...

बताया जा रहा है कि तीन-चार दिन पहले छात्रों के दो गुटों में एपीएम पीजी कालेज के गेट पर मारपीट हुई थी. इसलिए परिजनों को शक है कि इन्हीं लोगों ने हत्याकाण्ड की साजिश रची है. जिसके चलते परिजनों ने पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अमन प्रताप सिंह सहित अक्षय प्रताप सिंह, अभिजीत सिंह, मो. शाद, साहिल सिंह, इमरान और दो अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है. पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.

नाकाम रही पुलिस
वहीं दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या की घटना के बाद हुई आगजनी और तोड़फोड़ रोकने में पुलिस नाकाम रही. जिसके बाद शासन ने एडीजी आशुतोष पाण्डेय को विशेष जांच अधिकारी बना कर भेजा मामले की बेहतर जांच के लिए भेजा है. एडीजी ने आगजनी और तोड़फोड़ वाली जगह का निरीक्षण किया. उन्होंने कहा कि छात्र नेता हत्या की ये घटना बहुत ही गंभीर थी. शासन ने इस घटना को काफी गंभीरता से लिया.

ये भी पढ़ें:

BJP नेता को बदमाशों ने दिनदहाड़े गोली मारी, इलाज के लिए लखनऊ ले जाते समय मौत

कबीर तिवारी हत्याकांड में उछले कई छात्र नेताओं के नाम, अब तक दो गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बस्ती से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 4:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...