बस्ती: 2015 की पुलिस भर्ती में सामने आया फर्जीवाड़ा, 4 पुलिसकर्मी बर्खास्त

चारों ने दिल्ली हायर सेकेंड्री बोर्ड से हाईस्कूल और इंटर उत्तीर्ण की मार्कशीट लगाई थी. जांच के दौरान पता चला कि दिल्ली में यह बोर्ड ही नहीं है.

HIFZUR RAHMAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 24, 2018, 1:16 PM IST
बस्ती: 2015 की पुलिस भर्ती में सामने आया फर्जीवाड़ा, 4 पुलिसकर्मी बर्खास्त
UP Police Admit Card 2018: Download Now
HIFZUR RAHMAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 24, 2018, 1:16 PM IST
बस्ती जिले में 2015 की पुलिस भर्ती में फर्जीवाड़ा सामने आया है. मामला सामने आने के बाद एसपी दिलीप कुमार ने 4 पुलिस कर्मियों को बर्खास्त कर दिया है. वहीं सभी के खिलाफ संबधित जिलों के एसपी को पत्रावली वापस कर वैधानिक कार्रवाई करने का अनुरोध किया गया है. एसपी के मुताबिक, इन ट्रेनी सिपाहियों ने फर्जी मार्कशीट लगाकर नौकरी हासिल की थी. उन्होंने बताया कि दो सिपाही गाजीपुर और 2 देवरिया के रहने वाले है.

बता दें कि देवरिया जिले के अजय कुमार भारती, विजय कुमार यादव और गाजीपुर जिले के राकेश यादव और यशवंत की भर्ती पुलिस कांस्टेबल के रूप में हुई थी. यह सभी बस्ती में प्रशिक्षण ले रहे थे. इनके शैक्षिक प्रमाण पत्र की जांच कराई जा रही थी. जांच में इनकी मार्कसीट फर्जी निकली. चारों ने दिल्ली हायर सेकेंड्री बोर्ड से हाईस्कूल और इंटर उत्तीर्ण की मार्कशीट लगाई थी. जांच के दौरान पता चला कि दिल्ली में यह बोर्ड ही नहीं है.

ऐसे में उनकी मार्कसीट फर्जी साबित हो गई. देवरिया और गाजीपुर जिले से जब वेरीफिकेशन की रिपोर्ट मिली तो बस्ती पुलिस के अधिकारी दंग रह गए. रिपोर्ट के आधार पर नियुक्ति पत्र पाने वाले राकेश यादव और यशवंत को बर्खास्त कर दिया गया, जबकि अजय कुमार भारती और विजय कुमार यादव को प्रशिक्षण से निकाल दिया गया है. एसपी ने बताया कि उनके जिलों के पुलिस कप्तान को उनकी पत्रावलियां वापस भेजकर आरोपितों पर वैधानिक कार्रवाई की सिफारिश की गई है.

ये भी पढ़ें:

पिछली सरकारों की देन है बिल्डिंगों का गिरना: CM योगी

Exclusive: सीएम योगी बोले- मुझसे गले मिलने से पहले 10 बार सोचेंगे राहुल

 यूपी में गौ तस्करी व गौकशी की परमिशन किसी को नहीं दे सकते- CM योगी

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर