सिद्धार्थनगर: बीजेपी सांसद के औचक निरीक्षण के दौरान नवविवाहिता ने इलाज के अभाव में तोड़ा दम

बीजेपी सांसद प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को पूरी घटना से अवगत कराते हैं और दोषी डाक्टर के खिलाफ कार्रवाई की बात कर डाक्टर पर एफआईआर की बात करते हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2018, 1:04 PM IST
सिद्धार्थनगर: बीजेपी सांसद के औचक निरीक्षण के दौरान नवविवाहिता ने इलाज के अभाव में तोड़ा दम
अस्पताल में बीजेपी सांसद जगदंबिका पाल. Photo: News 18
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2018, 1:04 PM IST
सिद्धार्थनगर जिले मे हमेशा चर्चाओं में रहने वाला जिला अस्पताल शनिवार को फिर चर्चा मे आ गया. यहां एक 20 वर्षीय नवविवाहिता की दवा के अभाव और डाक्टर के ड्यूटी से नदारद होने पर मौत हो गई. चौंकाने वाली बात ये रही कि जब नवविवाहिता की मौत के समय स्थानीय सांसद जगदम्बिका पाल जिला अस्पताल का निरीक्षण कर रहे थे. मामले में बीजेपी सांसद ने कड़ी कार्रवाई कराने की बात कही है.

सिद्धार्थनगर जिले का जिला अस्पताल जिसमें डाक्टरो की कमी बनी रहती है. कम डाक्टर होने पर भी डाक्टर अस्पताल आने मे कतराते हैं. इसका नतीजा शनिवार को देखने को मिला. जब एक नवविवाहित बहू पेट दर्द के चलते जिला अस्पताल मे भर्ती कराई गई. लेकिन डाक्टरों के लापरवाह रवईये के चलते उसकी मौत हो गई.

इंदिरा नगर की रहने वाली सावित्री नाम की नवविवाहित महिला पेट दर्द के चलते जिला अस्पताल लाई जाती है. रात की ड्यूटी पर मौजूद डाक्टर उसे प्राथमिक उपचार दे देते हैं. सुबह 11 बजे तक डॉ एसएन चौधरी, जो इमरजेंसी ड्यूटी पर होते हैं, अस्पताल का मुंह तक नही देखने आते हैं. परिजन गुहार लगाते रह जाते हैं और अपनी आंखो के सामने अपने परिवार की बेटी को मौत के मुंह मे जाते हुए देखते रह जाते हैं. इस पूरे प्रकरण पर जिला अस्पताल की सीएमएस रोचसमति पाण्डेय जांच की बात करती हैं.

वहीं अचानक जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे डुमरियागंज से बीजेपी सांसद जगदम्बिका पाल के सामने इस नवविवाहिता का दम निकलता है. सांसद प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को पूरी घटना से अवगत कराते हैं और दोषी डाक्टर के खिलाफ कार्यवाही की बात कर डाक्टर पर एफआईआर की बात करते हैं.

(रिपोर्ट: परवेज)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर