कबीर तिवारी हत्याकांड में सामने आया एक और अभियुक्त का नाम, फरार 2 आरोपियों पर ईनाम घोषित
Basti News in Hindi

कबीर तिवारी हत्याकांड में सामने आया एक और अभियुक्त का नाम, फरार 2 आरोपियों पर ईनाम घोषित
बस्ती के कबीर तिवारी हत्याकांड मामले में पुलिस ने फरार दो आरोपियों पर ईनाम घोषित किया है.

बस्ती (Basti) के नए एसपी हेमराज मीणा के अनुसार अभिजीत सिंह पहले से ही नामजद है और एक नए अभियुक्त प्रशांत पांडेय उर्फ मन्नू का नाम सामने आया है. दोनों ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है. इनकी गिरफ्तारी के लिए 4 टीमें लगाई गई हैं. जल्द ही इस मामले में गिरफ्तारी कर पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा.

  • Share this:
बस्ती. बीजेपी नेता (BJP Leader) कबीर तिवारी हत्याकांड (Kabir Tiwari Murder Case) मामले में बस्ती (Basti) के नए एसपी हेमराज मीणा (SP Hemraj Meena) ने आते ही जांच तेज कर दी है. एसपी ने मामले में फरार चल रहे दो आरोपियों अभिजीत सिंह और प्रशांत पांडेय की गिरफ्तारी पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया है. बता दें अभिजीत सिंह भाजयुमो का मंत्री है, जिसे पार्टी ने निष्कासित कर दिया है. मामले में एसपी का कहना है कि कबीर तिवारी की हत्या मामले में दो आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

एसपी के अनुसार अभिजीत सिंह पहले से ही नामजद है और एक नए अभियुक्त प्रशांत पांडेय उर्फ मन्नू का नाम सामने आया है. दोनों ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है. इनकी गिरफ्तारी के लिए 4 टीमें लगाई गई हैं. जल्द ही इस मामले में गिरफ्तारी कर पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा.

8 नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा हुआ था दर्ज



बता दें बीजेपी नेता और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी की बस्ती में दिनदहाड़े बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. हत्या के विरोध में कबीर के समर्थक उग्र हो गए और शहर में कई जगह जमकर तोड़फोड़ की घटना सामने आई. इस मामले में पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, इसके अलावा पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने 8 नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि तीन-चार दिन पहले छात्रों के दो गुटों में एपीएम पीजी कालेज के गेट पर मारपीट हुई थी. इसलिए परिजनों को शक है कि इन्हीं लोगों ने हत्याकांड की साजिश रची है. जिसके चलते परिजनों ने पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अमन प्रताप सिंह सहित अक्षय प्रताप सिंह, अभिजीत सिंह, मो. शाद, साहिल सिंह, इमरान और दो अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है.
नाकाम रही पुलिस
वहीं दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या की घटना के बाद हुई आगजनी और तोड़फोड़ रोकने में पुलिस नाकाम रही. जिसके बाद शासन ने एडीजी आशुतोष पाण्डेय को विशेष जांच अधिकारी बना कर भेजा मामले की बेहतर जांच के लिए भेजा है. एडीजी ने आगजनी और तोड़फोड़ वाली जगह का निरीक्षण किया. उन्होंने कहा कि छात्र नेता हत्या की ये घटना बहुत ही गंभीर थी. शासन ने इस घटना को काफी गंभीरता से लिया. इसके बाद जिले के कप्तान को हटा दिया गया.

रिपोर्ट: हिफजुर्रहमान

ये भी पढ़ें:

बीजेपी नेता कबीर तिवारी हत्याकांड की होगी उच्चस्तरीय जांच: कानून मंत्री

कबीर तिवारी हत्याकांड में उछले कई छात्र नेताओं के नाम, अब तक दो गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज