होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Ram Navami 2023: भगवान राम और माता सीता से जुड़ा है इस मार्ग का रहस्य, जानिए क्यों पड़ा राम जानकी मार्ग नाम 

Ram Navami 2023: भगवान राम और माता सीता से जुड़ा है इस मार्ग का रहस्य, जानिए क्यों पड़ा राम जानकी मार्ग नाम 

जनकपुर से माता सीता और भगवान राम इसी रास्ते से गए थे अयोध्या. 

जनकपुर से माता सीता और भगवान राम इसी रास्ते से गए थे अयोध्या. 

Basti News: पण्डित चिंतामणि त्रिपाठी ने बताया कि भगवान राम और माता सीता पहली बार इसी मार्ग से अयोध्या गए थे. रास्ते में ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: कृष्ण गोपाल द्विवेदी

बस्ती. मर्दाया पुरुषोत्तम भगवान राम, त्रेता युग का वशिष्ठ नगर और आज के बस्ती जनपद का नाता बहुत पुराना है. या यू कहें कि एक तरह से बस्ती जनपद में भगवान राम ने अपना बहुत सा समय व्यतीत किया था. पुराणों के अनुसार, भगवान राम ने बस्ती जनपद को गुरू वशिष्ठ को दे दिया था और गुरू वशिष्ठ यहीं पर रहते थे.

एक पौराणिक कहानी के अनुसार, राजा दशरथ ने यहीं पुत्रयेष्टि यज्ञ किया तब जाकर भगवान राम का जन्म हुआ था. इसलिए बस्ती को भगवान राम की उद्भव स्थली माना जाता है. भगवान राम की बहन का निवास, भगवान राम की प्रारम्भिक शिक्षा सब आज के बस्ती जनपद में ही हुई थी. वहीं बस्ती जनपद में राम जानकी मार्ग भी स्थित है. जो धर्मनगरी अयोध्या को सीधे जोड़ता है और यह मार्ग लोगों की आस्था का केन्द्र भी है.

राम जानकी मार्ग की कहानी

बस्ती के हरैया और सदर तहसील के गुजरता यह मार्ग बस्ती के छावनी से शुरू होकर बिहार प्रदेश होते हुए सीधे जनकपुर को जोड़ता है. इस मार्ग की कुल लम्बाई 457.6 किलोमीटर है. जिसको 10 घंटे 4 मिनट में पूरा किया जा सकता है, यह बस्ती जनपद में 55 किलोमीटर में स्थित है. कहते हैं जब भगवान राम, माता सीता को जनकपुर से ब्याह कर अयोध्या के लिए आए थे. तो वो इसी मार्ग से अयोध्या नगरी गए थे. इसलिए इस मार्ग का नाम राम जानकी मार्ग पड़ा है. यह मार्ग लोगों की आस्था और श्रद्धा का केन्द्र है, जो भी कोई इस मार्ग से गुजरता है, वो भगवान राम को प्रणाम करता है. पण्डित चिंतामणि त्रिपाठी ने बताया कि भगवान राम और माता सीता पहली बार इसी मार्ग से अयोध्या गए थे और रास्ते में जिस जगह वो लोग रुके थे, वहां पर रामजनकी मन्दिर भी बना है और 84 कोसी परिक्रमा का यह मुख्य मार्ग भी है.

तेजी से हो रहा विकास

केन्द्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने इस मार्ग को विकसित करने का कार्य किया है. अब इस मार्ग के चौड़ी करण का भी कार्य किया जा रहा है. इसको फोर लेन में विकसित किया जा रहा है. जो सीधे जनकपुर तक जाएगी.

Tags: Basti news, Latest hindi news, UP news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें