लाइव टीवी

पाकिस्तानी आर्मी चीफ से गले मिलकर नवजोत सिंह सिद्धू ने निभाया शिष्टाचार: ओम प्रकाश राजभर

Amit Agrahari | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2018, 3:49 PM IST
पाकिस्तानी आर्मी चीफ से गले मिलकर नवजोत सिंह सिद्धू ने निभाया शिष्टाचार: ओम प्रकाश राजभर
संतकबीर नगर में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर. Photo: News 18

राम मन्दिर बनने के सवाल पर ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि न हम मन्दिर के पक्ष में हैं, न मस्जिद के पक्ष में हैं. मन्दिर के मुद्दे पर सिर्फ झगड़ा पाला जा रहा है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सहयोगी दल सुभासपा के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर बुधवार को संत कबीर नगर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने राम मंदिर मसले से लेकर नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे पर अपनी राय रखी.

मीडिया से बात करते हुए कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के राम मंदिर पर दिए बयान पर कहा कि अयोध्या मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है. साधु संत आक्रोशित हैं औऱ जगह-जगह साधु-संत आंदोलन कर रहे हैं. साधु-संतों के गुस्से को शांत करने के लिए केशव प्रसाद मौर्य इस तरह का बयान दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले के हल का दो ही ऑप्शन हैं. एक या तो आपसी रजामन्दी से इसका हल होगा या कोर्ट के फैसले से, तीसरा कोई आॅप्शन नहीं है.

वहीं राम मन्दिर बनने के सवाल पर ओम प्रकाश राजभर ने पूछा कि मन्दिर बनने से क्या सबको शिक्षा, रोजगार मिल जाएगा? उन्होंने कहा कि न हम मन्दिर के पक्ष में हैं, न मस्जिद के पक्ष में हैं. मन्दिर के मुद्दे पर सिर्फ झगड़ा पाला जा रहा है.

वहीं कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि इसमें कोई बुराई नहीं है. सिद्धू भी क्रिकेटर रहे हैं और पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान भी क्रिकेटर रहे हैं. उन्होंने कहा पाकिस्तानी सेना के जनरल से गले मिलकर नवजोत सिंह सिद्दू ने शिष्टाचार निभाया है, इसमें कोई हर्ज नहीं है. ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मोदी जी जाकर चादर चढ़ाते हैं तो कोई बात नहीं होती. नवजोत सिंह सिद्दू चले गए तो बवाल क्यों हो रहा है.

उन्होंने कहा कि जितना बवाल सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर हो रहा है. अगर उतनी चर्चा प्रदेश में शिक्षा और रोजगार देने के लिए होती तो बात समझ मे आती. लेकिन कुछ नेता ऐसे हैं, जो भारत-पाकिस्तान औऱ हिन्दू-मुस्लिम ही किया करते हैं.

ये भी पढ़ें: 

नवजोत सिंह सिद्दू के पाक दौरे पर बोले आजम खान- गलत थे तो वीजा ही नहीं​ मिलना चाहिए थाईद-उल-अजहा पर बिजनौर के इस गांव में लोगों ने नहीं पढ़ी नमाज, कुर्बानी पर रोक का आरोप

2019 की यूपी बोर्ड परीक्षा में 10 लाख कम हुए हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के परीक्षार्थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बस्ती से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2018, 3:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर