COVID-19: भदोही में बिना जांच 9 लोगों को बता दिया कोरोना पॉजिटिव, मचा बवाल तो बदली रिपोर्ट

कोरोना रिपोर्ट में लापरवाही के बाद भड़के ग्रामीण (प्रतीकात्मक तस्वीर)
कोरोना रिपोर्ट में लापरवाही के बाद भड़के ग्रामीण (प्रतीकात्मक तस्वीर)

यूपी के भदोही के में बिना सैंपल जांच के ही 9 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव (COVID-19 positive) आने से मचा हड़कंप. ग्रामीणों के विरोध के बाद स्वास्थ्य विभाग ने गलती सुधार कर नई रिपोर्ट जारी की.

  • Share this:
भदोही. कोरोनाकाल (Pandemic coronavirus) में एक तरफ जहां सरकार और प्रशासन महामारी की रोकथाम को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर कई सरकारी विभाग ऐसे भी हैं, जो इस समय भी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे. कुछ ऐसा ही मामला यूपी के भदोही में सामने आया है, जहां स्वास्थ्य विभाग ने बिना सैंपल जांच किए ही 9 लोगों को COVID-19 पॉजिटिव बता दिया.

रिपोर्ट के मुताबिक भदोही जनपद के सरपतहां गांव में कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद बीते रविवार को गांव में 9 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई. इस पर गांव में हड़कंप मच गया. ग्रामीणों का आरोप है कि उनका सैंपल नहीं लिया गया, तो ऐसे में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट कैसे आ गई. ग्रामीणों के विरोध और मीडिया में रिपोर्ट आने के बाद सोमवार को फिर से अपडेटेड लिस्ट जारी करके जिला प्रशासन ने काफी फजीहत के बाद अपनी गलती सुधारी. हिन्दुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक मामला सामने आने पर सीएमओ ने कहा है कि संक्रमित मृतक के परिजनों और ग्रामीणों का मंगलवार को सैंपल लिया जाएगा.

मुंबई से आते समय रास्ते में हुई थी मौत



सरपतहां गांव निवासी एक शख्स की 17 मई की रात मुंबई से घर आते समय मिर्जापुर में मौत हो गई थी. उसके बाद मृतक के परिजन निजी वाहन से उनका शव घर लेकर आए. अगली सुबह जब सभी शव का अंतिम संस्कार करने जा रहे थे तो लोगों की शिकायत पर पुलिस ने उन्हें रोका और शव का कोरोना सैंपल लेने के बाद अंतिम संस्कार के लिए जाने दिया. 21 मई को मृतक की रिपोर्ट आई तो वह कोरोना पॉजिटिव निकला. इसके बाद प्रशासन ने गांव को हॉटस्पॉट घोषित कर दिया. उसके बाद लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने न तो परिजनों का और न ही अंतिम संस्कार में शामिल लोगों का ही सैंपल लिया, जबकि रविवार को आई रिपोर्ट में इस गांव के 9 लोगों को प्रशासन ने संक्रमित बता दिया.
रिपोर्ट देने में लापरवाही उजागर

भदोही में रविवार को जिन 9 कोरोना पॉजिटिव लोगों की रिपोर्ट आई थी, उसमें भी प्रशासन की लापरवाही सामने आई. दरअसल, यह रिपोर्ट अकेरेल सरपतहा गांव की न होकर, जनपद के अलग-अलग गांवों के लोगों की थी. लेकिन प्रशासन ने इसी गांव के लोगों को पहली रिपोर्ट में संक्रमित बता दिया था. उधर मृतक के आक्रोशित परिजनों ने बताया कि घटना के इतने दिन बाद भी अब तक उन लोगों का सैंपल नहीं लिया गया है, हां रिपोर्ट जरूर जारी कर दी गई.

वहीं मीडिया में रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया. सीएमओ डॉ. लक्ष्मी सिंह के निर्देश पर मंगलवार को परिजनों और ग्रामीणों का सैंपल लिया गया. उन्होंने बताया कि परिजनों व संक्रमित के अंतिम संस्कार में जाने वाले लोगों का सैंपल मंगलवार को लिया गया है जिन्हें एंबुलेंस के जरिये सीएचसी सुरियावां भेजा गया है. उधर, फजीहत के बाद प्रशासन ने रिपोर्ट में तो सोमवार को सुधार कर दिया लेकिन संदिग्धों का सैम्पल अब जाकर लिया गया. अब फिलहाल इनकी रिपोर्ट आने का इंतजार है.

ये भी पढ़ें- COVID-19: सहारनपुर में चूहों का खौफ, टेंट व्यवसायियों ने दुकान खोलने की मांगी अनुमति
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज