कानपुर शूटआउट: शिवसेना बोली- 40 साल बाद भी यूपी का ऐसा हाल, 'उत्‍तम प्रदेश' पुलिस के खून से लथपथ
Mumbai News in Hindi

कानपुर शूटआउट: शिवसेना बोली- 40 साल बाद भी यूपी का ऐसा हाल, 'उत्‍तम प्रदेश' पुलिस के खून से लथपथ
File Photo.

मुखपत्र सामना (Samna) में योगी सरकार (Yogi Government) पर सवाल उठाते हुए कहा गया है कि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश कहा जाता है. अब उत्तम प्रदेश पुलिस के खून से लथपथ है.

  • Share this:
रमाकांत तिवारी

मुम्बई. कुख्यात अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) द्वारा कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने पर शिवसेना (Shiv Sene) ने अपने मुखपत्र सामना (Saamna) में योगी सरकार पर सवाल उठाया है. सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश कहा जाता है. लेकिन, अब उत्तम प्रदेश पुलिस के खून से लथपथ हो गया है. यह पूरे देश के लिए एक झटका है.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा, '40 साल बाद भी अगर उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मियों को गुंडे इस तरह से मार सकते हैं, तो योगी महाराज के उत्तर प्रदेश में क्या बदलाव आया? आज जनता कोरोना के कारण लॉकडाउन में बंद है. कल गुंडों से सुरक्षित रहने के लिए लॉकडाउन में रहना पड़ेगा क्या? ऐसा सवाल वहां के लोगों के मन में है. सवाल कई हैं, जिनका जवाब योगी सरकार को ही देना है, क्योंकि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश कहा जाता है.'



ये भी पढ़ें:-8 पुलिस वालों का मर्डर और 50 हजार इनाम, फिर भी विकास दुबे नहीं है मोस्ट वांटेड क्रिमिनल
कानपुर एनकाउंटर: चंबल के बीहड़ों में पहुंच गया 8 पुलिसवालों की हत्या का आरोपी गैंगस्‍टर विकास दुबे!

 '113 ‘एनकाउंटर’ में विकास दुबे नाम कैसे छूट गया?'
शिवसेना ने कहा कि गुंडों के गिरोह और उनके अपराध के कारण उत्तर प्रदेश जैसे राज्य दशकों से बदनाम हैं. वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में गुंडागर्दी का अंत कर दिया है, ऐसे दावे कई बार किए गए. लेकिन, कानपुर पुलिस हत्याकांड ने इन दावों पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं. सामना के संपादकीय में लिखा गया, 'उत्तर प्रदेश की गुंडई राष्ट्रीय राजधानी, दिल्ली और वित्तीय राजधानी मुंबई को भी प्रभावित करती रहती है. इसलिए कानपुर पुलिस हत्याकांड गंभीर चिंता का विषय है. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार को सत्ता में आए तीन साल से ज्यादा का समय हो चुका है. इस अवधि के दौरान पुलिस ने 113 से अधिक गुंडों का ‘एनकाउंटर’ किया, लेकिन उसमें विकास दुबे नाम कैसे छूट गया?'

 ‘एनकाउंटर स्पेशलिस्ट’ सरकार को बेनकाब कर दिया है
शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा है की कानपुर पुलिस हत्याकांड ने उत्तर प्रदेश की ‘एनकाउंटर स्पेशलिस्ट’ सरकार को बेनकाब कर दिया है. विकास दुबे के नेपाल फरार होने की आशंका के पश्चात उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा वहां की सीमाओं को सील करने की खबर है. हालांकि, हमारी नेपाल सीमा ऐसे मामलों में हमेशा चिंता का विषय रही है. फिलहाल नेपाल के साथ हमारे संबंध भी अच्छे नहीं हैं. इस परिप्रेक्ष्य में कल विकास दुबे हमारे लिए ‘नेपाल का दाऊद’ साबित न होने पाए!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading