Home /News /uttar-pradesh /

11 साल आरुषि मर्डर केस: कातिल ने उठाया इन 5 गलतियों का फायदा!

11 साल आरुषि मर्डर केस: कातिल ने उठाया इन 5 गलतियों का फायदा!

फाइल फोटो- आरुषि.

फाइल फोटो- आरुषि.

आरुषि-हेमराज मर्डर केस के 11 साल: इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले अभी तक पुलिस और सीबीआई की पहुंच से बाहर हैं

    नोएडा में घटी देश की बड़ी मर्डर मिस्ट्री आरुषि-हेमराज मर्डर केस को आज 11 साल हो गए. पुलिस से लेकर सीबीआई तक इस मामले में आरोपियों को पकड़ने में नाकाम साबित हुई. हालांकि आरुषि के माता-पिता इस मामले में जेल काट चुके हैं. लेकिन इस मर्डर केस को अंजाम देने वाले अभी तक पुलिस और सीबीआई की पहुंच से बाहर हैं. जांच के पहले दिन तक पुलिस ने उसी को कातिल मानकर तलाश शुरु कर दी थी जिसका कत्ल हो गया था. हालांकि बाद में हेमराज का शव घर की छत पर मिला था.

    लेकिन ये पुलिस की शुरुआती पहली गलती नहीं थी. 5 और भी ऐसी गलतियां थी जो अगर नहीं हुई होती तो आज संभवता कातिल जेल के अंदर होता. लेकिन उसके बाद तो पुलिस बस लकीर ही पीटती रही.

    ये थी वो 5 बबड़ी गलतियां

    हत्या वाले कमरे में पुलिस ने किसी के आने-जाने पर कोई पाबंदी नहीं लगाई. नतीजा ये हुआ कि कई अहम साक्ष्य मिट गए.

    खून, बेड शीट और गद्दे के नमूने लेने में पुलिस ने समय की लापरवाही बरती, जिससे सुबूतों संग छेड़छाड़ हो गई.

    हत्या के बाद पहले दिन पुलिस ने छत पर जाने तक की जहमत नहीं उठाई. जबकि हेमराज का शव छत पर पड़ा था.

    फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को 2 घंटे बाद बुलाया गया. संभवता जब तक कई अहम निशान आवाजाही के चलते मिट चुके थे.

    हत्या वाले दिन पुलिस ने लैपटॉप और कंप्यूटर (डेस्कटॉप) जब्त नहीं किया. और जब जब्त किया तो उसके डाटा से छेड़छाड़ हो चुकी थी.

    छोटी-छोटी लापरवाही का नतीजा ये निकला कि 11 सालों में लोकल पुलिस और सीबीआई कातिल का पता नहीं लगा पाई. वहीं हाईकोर्ट से संदेह का लाभ देते हुए तलवार दंपत्ति बरी हो गए. ये बात अलग हैं कि इसके बाद सीबीआई सुपीम कोर्ट तक चली गई. लेकिन नतीजा क्या निकला ये सबके सामने है.

    कोर्ट में सीबीआई बोली- खुद से गया है नजीब, आखिरी बार...

    दिल्ली छेड़छाड़-मर्डर: हत्या के लिए चाकू देने की आरोपी मां-बेटी भी गिरफ्तार

    दिल्ली छेड़छाड़-मर्डर: बेटे ने मां से मंगाया था चाकू, 4 महिलाओं सहित 11 ने घेरकर मारा
    दिल्ली: मर्डर करके मदद के लिए मस्जिद में भागा था शमशेर, लोगों ने थाने पहुंचाया

     

    Tags: Aarushi Talwar Murder Case, CBI, Murder, Supreme court of india

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर