अपना शहर चुनें

States

बिजनौर: भीड़ ने बच्चा चोर के शक में दिव्यांग को किया था हवाले, पुलिस ने डकैत बनाकर भेजा जेल

बिजनौर में एसपी संजीव त्यागी ने सात लूटेरों को किया था मीडिया के सामने पेश
बिजनौर में एसपी संजीव त्यागी ने सात लूटेरों को किया था मीडिया के सामने पेश

दरअसल कीरतपुर में गत रविवार भीड़ ने बच्चा चोर समझकर मोहम्मद तालिब नाम के युवक को पीटा था.

  • Share this:
बिजनौर (Bijnor) में पुलिस (Police) किस तरह से 'गुड वर्क' को अंजाम दे रही है इसकी एक बानगी देखने को मिली है. आरोप है कि 48 घंटे पहले जिस मानसिक रूप से विक्षिप्त युवक को भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में पीटकर पुलिस के हवाले किया था अब उसे डकैत बनाकर जेल भेज दिया गया है. थाना किरतपुर कोतवाल अजय कुमार पर आरोप है कि उन्होंने बेक़सूर युवक को डकैती की योजना बनाने में जेल भेज दिया है. हालांकि पहले कोतवाल ने उसे बेक़सूर माना था.

दरअसल, बुधवार को एसपी संजीव त्यागी ने प्रेस कांफ्रेंस कर डकैती की योजना बनाने के आरोप में गिरफ्तार सात आरोपियों को मीडिया के सामने पेश किया था. इसमें से एक आरोपी वह दिव्यांग युवक भी था जिसे बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने पुलिस के हवाले किया था. अब इस कार्रवाई के बाद एसपी व कोतवाल की कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं. पीड़ित के परिजनों ने मामले में एसपी से मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई है.

रविवार को बच्चा चोर समझकर भीड़ ने पीटा था



दरअसल कीरतपुर में गत रविवार भीड़ ने बच्चा चोर समझकर एक मोहम्मद तालिब नाम के युवक को पीटा था. लोगों का आरोप था कि वह बच्चा उठाकार ले जा रहा था. इस बीच किसी ने पुलिस को फोन कर दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने तालिब को भीड़ से छुड़ाकर थाने ले आई थी. तब जांच के दौरान कोतवाल ने उसके रिकॉर्ड को खंगालने के बाद क्लीन चिट दिया था.
bijnor mob attack
रविवार को मोहम्मद तालिब को भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में पीटकर पुलिस को सौंपा था


पुलिस ने मीडिया के सामने लुटेरों के तौर पर कराई पेशी

इस घटना के बाद पुलिस ने अपराध के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सात आरोपियों को दबोचा. आरोप है कि ये सभी डकैती की योजना बना रहे थे. तब एसपी संजीव त्यागी ने मीडिया को कहा था कि लुटेरों ने बताया कि वह अपने साथी के साथ मिलकर अपनी कार से दिल्ली गाजियाबाद आदि शहरों में बंद मकानों व हाईवे पर चोरी और लूट की वारदात को अंजाम देते चले आ रहे हैं. इस घटना में पुलिस ने सात लुटेरों को गिरफ्तार किया है. शाह आलम, मोहम्मद वसीम, अनीस, मोहम्मद तालिब, कामरान, मोहिद और इजहार को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनके पास से हौंडा सिटी कार एक तमंचा 315 बोर तमंचा 12 बोर चाकू बरामद किए हैं. यह लुटेरे लूटा और चोरी किया हुआ सामान गाड़ी में भरकर दिल्ली ले जाकर बेच देते थे.

bijnor child lifter
बच्चा चोरी के आरोप में पिटाई करती भीड़


इसलिए भी उठ रहे ये सवाल

अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर इसलिए भी सवाल उठ रहे हैं, जब भीड़ ने रविवार को ही मोहम्मद तालिब को बच्चा चोरी के शक में पुलिस के हवाले किया था तब वह डकैती की योजना कैसे बना रहा था? क्या पुलिस कस्टडी से वह फरार हो गया था? जब उसे बच्चा चोरी के इल्जाम में कस्टडी में रखा गया था तो डकैती के इल्जाम में कैसे जेल भेजा गया. क्या इंस्पेक्टर अपने कप्तान को खुश करने के लिए और गुड वर्क दिखाने के चक्कर में एक बेक़सूर को फंसा दिया है? फिलहाल इन सवालों का जवाब एसपी संजीव त्यागी के बाहर होने की वजह से नहीं मिल पाया है. कोतवाल का कहना है कि वह इस मामले में शाम तक जवाब देंगे. अब देखना होगा कि पुलिस किस थ्योरी को सामने रखती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज