अपना शहर चुनें

States

बिजनौर में दर्ज हुई लव जिहाद की पहली FIR, प्रेम जाल में फंसाने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

बिजनौर में दर्ज हुई लव जिहाद की पहली FIR (प्रतीकात्मक तस्वीर)
बिजनौर में दर्ज हुई लव जिहाद की पहली FIR (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एसपी (SP) धर्मवीर सिंह ने बताया कि पीड़ित की तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली शहर में धर्म परिवर्तन निषेध कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
बिजनौर. यूपी के बिजनौर (Bijnor) जिले में धर्म परिवर्तन निषेध कानून (Love Jihad) के तहत पहला मुकदमा (FIR) दर्ज हुआ हैं. युवक के खिलाफ युवती के पिता ने धर्म परिवर्तन प्रतिषेध कानून की धारा के तहत शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई हैं. पुलिस ने दोनों को दबोच लिया और आरोपी युवक का चालान कर दिया. अब पुलिस युवती के कोर्ट में बयान कराने की तैयारी में जुटी हैं.

बता दें कि शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव गुनियापुर की एक युवती (19) का परिवार चंडीगढ़ में पुताई का काम करता है. पिछले दस साल से उसका परिवार वहां रह रहा है. मंडावली थाने के गांव श्यामीवाला के युवक का चंडीगढ़ में युवती के पड़ोसियों के घर आना-जाना था. उसने युवती व उसके परिजनों को अपना नाम बदलकर सोनू बताया. कुछ दिनों बाद आरोपी ने युवती को प्रेम जाल में फंसा लिया. युवती के परिवार में सात नवंबर को शादी थी. युवती परिजनों के साथ गांव गुनियापुर आई थी और घर में युवती अकेली थी. युवक उसे बहला-फुसलाकर घर से ले गया. सोनू का वास्तविक नाम अफजाल हैं.

दो आरोपी गिरफ्तार- एसपी



एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि पीड़ित की तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली शहर में 825/20 धारा 366 भादवि0 व धारा 3 (2) 5 अनुसूचित जाति जनजाति अधि0 तथा धारा 3/5 (1) उत्तर प्रदेश विधि विरूद्व धर्म संपरिवर्तन अध्यादेश 2020 पंजीकृत किया गया है. पुलिस ने करवाई करते हुए शनिवार शाम को आरोपी अफजाल उर्फ सोनू पुत्र भूरे निवासी ग्राम शामीबाला थाना मंडावली को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया है.
50 हजार रुपये तक का जुर्माना
इससे पहले उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने विवाह के लिए अवैध धर्मांतरण रोधी कानून के प्रस्ताव को मंगलवार को मंजूरी दे दी. इससे पहले राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में शादी के लिए धोखाधड़ी कर धर्मांतरण किए जाने की घटनाओं पर रोक लगाने संबंधी कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. कैबिनेट में प्रस्ताव पास होने के बाद 15- 50 हजार तक का जुर्माना का प्रवधान है. वहीं शादी के नाम पर धर्म परिवर्तन अवैध घोषित कर दिया गया है. अगर कोई भी ग्रुप धर्म परिवर्तन कराता है तो उसे 3 से 10 साल की सजा होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज