लाइव टीवी

बिजनौर: गैरहाजिर रहने पर जज हुए नाराज, सपा MLA मनोज पारस को भेजा जेल

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 30, 2020, 11:46 AM IST
बिजनौर: गैरहाजिर रहने पर जज हुए नाराज, सपा MLA मनोज पारस को भेजा जेल
जेल जाते हुए सपा विधायक मनोज पारस.

दरअसल, साल 2008 के एक मामले में कोर्ट ने SP MLA मनोज पारास के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था, लेकिन वह पेश नहीं हो रहे थे.

  • Share this:
बिजनौर. उत्तर प्रदेश के बिजनौर जनपद की नगीना सीट (Nagina Seat) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायक मनोज पारस (MLA Manoj Paras) को कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करना मंहगा पड़ गया. लगातार कोर्ट से गैरहाजिर चल रहे सपा विधायक को जेल जाना पड़ा है. दरअसल, साल 2008 के एक मामले में कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था, लेकिन वे हाजिर नहीं हो रहे थे. इसके बाद मुरादाबाद की कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया.

रेप के आरोप में पहले भी जा चुके हैं जेल
बता दें कि छजलैट के 2008 के बवाल में विधायक मनोज पारस आरोपी थे. वह कोर्ट के आदेश के बाद भी वह अदालत में पेश नहीं हो रहे थे. विधायक मनोज पारस पहले भी रेप  के आरोप में जेल जा चुके हैं. सपा विधायक मनोज पारस गुरुवार (29 जनवरी) को मुरादाबाद की एडीजे द्वितीय एमपी-एमएलए कोर्ट हाईवे पर जाम लगाने के मामले में सरेंडर किया. लेकिन, लगातार तीन तारीखों से गैरहाजिर चल रहे विधायक की गैरजमानती वारंट को कोर्ट ने निरस्त करते हुए जेल भेज दिया. हालांकि, उनके वकील ने जमानत की अर्जी दाखिल की लेकिन कोर्ट ने सुनवाई नहीं की.

अधिवक्ता शरीफ अहमद ने बताया कि मुरादाबाद के छजलैट थाना क्षेत्र में वर्ष 2008 में पुलिस ने रामपुर के मौजूदा सांसद आजम खान की गाड़ी को चेक करने पर विवाद हो गया था. उस दौरान सपा नेताओं ने रोड जाम करते हुए पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया था. इस मामले में पुलिस ने विधायक मनोज परस समेत नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था. इसमें सांसद आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला का नाम भी शामिल है.

कई घंटे कठघरे में खड़े रहे विधायक
सुबह 11 बजे सरेंडर करने के बाद विधायक मनोज पारस कई घंटे कोर्ट के कटघरे में खड़े रहे. वकील की तरफ से दाखिल की गई अर्जी के बाद भी विधायक को जमानत नहीं मिली. हालांकि, विधायक के वकील ने हाजिर न होने को लेकर कई तर्क दिए, लेकिन एडीजे द्वितीय एमपी-एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायधीश अनिल कुमार वशिष्ठ ने सपा विधायक मनोज पारस के सरेंडर करने के बाद उनके वारंट को निरस्त करते हुए जेल भेजने के आदेश दिए. जिसके बाद पुलिस उन्हें कोर्ट से ही जेल लेकर पहुंची.
(इनपुट: शकील अहमद)

ये भी पढ़ें-

अखिलेश यादव की BJP को नसीहत, धमकी देने की जगह 'राजधर्म' निभाए सरकार

आगरा में फर्जी बैंक का भंडाफोड़, ऐसे पुलिस की गिरफ्त में आए जालसाज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिजनौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 11:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर