बरेली में भाजपा नेता की सरेआम गोलियों से भून कर हत्‍या, हत्‍यारों की तलाश में जुटी पुलिस
Bareilly News in Hindi

बरेली में भाजपा नेता की सरेआम गोलियों से भून कर हत्‍या, हत्‍यारों की तलाश में जुटी पुलिस
भाजपा नेता की हत्‍या कर हत्‍यारे फरार हो गए और यूपी पुलिस हमेशा की तरह हाथ मलती रह गई.

एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय (SSP Shailesh Kumar Pandey) का कहना है कि प्रोपर्टी विवाद (Property Dispute) के चलते सिराजुद्दीन और ईसामुद्दीन पर हत्या (Murder) का आरोप है. जल्द ही घटना में शामिल हमलावरों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी.

  • Share this:
बरेली. प्रदेश में लॉकडाउन (Lockdown) लागू कराने के लिए इन दिनों पूरे सूबे की पुलिस (Police) सड़कों पर है. बावजूद इसके, मंगलवार रात्रि चार बदमाश सरेआम भाजपा नेता (BJP Leader)  को तब तक गोली मारते हैं, जब तक उनकी मौत नहीं हो जाती है. वारदात को अंजाम देने के बाद चारों बदमाश बेहद आसानी से मौके से फरार हो जाते हैं और यूपी की मुस्‍तैद पुलिस को कानोकान खबर नहीं लगती. वहीं, पुलिस को जबतक कुछ पता चलता है, तबतक सिर्फ पंचनामा भरने और शव को पोस्‍टमार्टम में भेजने का काम बचता है. पुलिस अपने इस काम को पूरा करती है और आरोपियों को जल्‍द गिरफ्तार करने की बात एक बार फिर दोहरा देती है.

परिजनों के अनुसार, मृतक का नाम यूनुस अहमद उर्फ डंपी था. डिंपी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के महानगर उपाध्यक्ष थे. परिजनों ने बताया कि उनका जमीन को लेकर सिराजुद्दीन, ईसामुद्दीन और आसिफ से विवाद चल रहा है. जिसको लेकर 2 साल पहले इन लोगों के खिलाफ बारादरी थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया गया था. आज जब यूनुस अहमद उर्फ डंपी अपने घर के बाहर बैठे हुए थे, तभी सिराजुद्दीन, ईसामुद्दीन, आसिफ और एक अज्ञात युवक आये. इनके हाथों में पिस्टल, रायफल, रिवाल्वर और तमंचा था. उन लोगों ने यूनुस अहमद पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई.

मृतक यूनुस अहमद उर्फ डंपी. The deceased Younus Ahmad aka Dumpy.
मृतक यूनुस अहमद उर्फ डंपी. The deceased Younus Ahmad aka Dumpy.




पुलिस ने कहा- प्रॉपर्टी विवाद के चलते हुई हत्‍या
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के महानगर उपाध्यक्ष यूनुस अहमद उर्फ डंपी की हत्या की खबर लगते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय डॉग स्क्वाड और बारादरी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे. शहर के सभी थानों की पुलिस ने सभी जगह नाकेबंदी कर दी, ताकि हत्यारों को पकड़ा जा सके. लेकिन, हत्यारे वारदात को अंजाम देकर और पुलिस की आंखों में धूल झोंककर फरार हो गए. वहीं, घटना स्थल पर पहुंचे एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय का कहना है कि प्रोपर्टी विवाद के चलते सिराजुद्दीन और ईसामुद्दीन पर हत्या का आरोप है. जल्द ही घटना में शामिल हमलावरों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी.

हत्‍या की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारी. Senior police officers arrived at the scene after receiving the news of the murder.
हत्‍या की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारी.


और हाथ मलती रह गई यूपी की मुस्‍तैद पुलिस
गौरतलब है की आज ही पीएम मोदी ने 3 मई तक लॉक डाउन की घोषणा की है. उन्होंने ये भी कहा था इस बार लॉकडाउन में पहले से ज्यादा सख्ती बरती जाएगी, लेकिन उसी सख्ती के बीच आज उन्हीं की पार्टी के एक नेता की हत्या कर दी गई. जो ये बताती है की पुलिस कितनी मुस्तैदी से काम कर रही है. पुलिस की इस चाक चौबंद व्यवस्था में भी बदमाश हत्या की वारदात करके फरार हो जाते हैं और पुलिस हर बार की तरह इस बार भी हाथ मलती रह गई.

यह भी पढ़ें:

बांद्रा की घटना पर अखिलेश का ट्वीट- अमीरों को जहाज से विदेशों से ला सकते हैं, तो गरीबों को ट्रेनों से क्यों नहीं?
Lockdown बढ़ने के बाद सख्त हुई प्रयागराज पुलिस, आवाजाही पूरी तरह ठप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज