Home /News /uttar-pradesh /

bsp fails samajwadi party my formula causes damage on 30 assembly seats and make path clear for bjp

बसपा की इस रणनीति से फेल हुआ सपा का 'MY' फॉर्मूला, इन 30 सीटों पर पहुंचाया नुकसान

बसपा सुप्रीमो ने कम से कम 30 सीटों पर सपा की मुश्किल बढ़ाकर बीजेपी की जीत की राह कर दी.

बसपा सुप्रीमो ने कम से कम 30 सीटों पर सपा की मुश्किल बढ़ाकर बीजेपी की जीत की राह कर दी.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election Results 2022) में बहुजन समाज पार्टी (BSP) खुद भले एक सीट पर सिमट गई हो, लेकिन उसने कम से कम 30 सीटों पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुस्लिम-यादव गठजोड़ यानी 'MY' समीकरण को बेअसर कर दिया. इन सीटों पर बसपा ने मुस्लिम उम्मीदवार उतारकर समाजवादी पार्टी को सीधे तौर पर नुकसान पहुंचाया. इन 30 सीटों में से 26 सीटें ऐसी थीं, जहां सपा और बसपा के बीच मुस्लिम वोट बंटने से अखिलेश यादव को नुकसान हुआ.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election Results 2022) में बहुजन समाज पार्टी (BSP) खुद भले एक सीट पर सिमट गई हो, लेकिन उसने कम से कम 30 सीटों पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुस्लिम-यादव गठजोड़ यानी ‘MY’ समीकरण को बेअसर कर दिया. इन सीटों पर बसपा ने मुस्लिम उम्मीदवार उतारकर समाजवादी पार्टी को सीधे तौर पर नुकसान पहुंचाया. इन 30 सीटों में से 26 सीटें ऐसी थीं, जहां सपा और बसपा के बीच मुस्लिम वोट बंटने से अखिलेश यादव को नुकसान हुआ.

इस बार के विधानसभा चुनाव में यह तय माना जा रहा था कि सपा को एकतरफा मुस्लिम वोट जाएगा. ऐसे में बसपा प्रमुख मायावती ने सपा से मुस्लिम वोटों को तोड़ने के लिए राज्य की 89 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार उतारे. बसपा की रणनीति थी कि सपा जहां मुस्लिम उम्मीदवार नहीं उतारेगी वहां दलित और मुस्लिम वोटरों की मदद से उसे सीधा फायदा होगा. मायावती की प्लानिंग थी कि इन सीटों पर अगर उसे फायदा नहीं भी हुआ तो सपा को नुकसान जरूर पहुंचेगा.

ऐसे में इन विधानसभा सीटों के नतीजों को देखें तो बसपा सुप्रीमो अपनी रणनीति में कामयाब दिखती हैं. यहां बसपा को भले कुछ फायदा नहीं हुआ लेकिन सपा को इनमें से कम से कम 30 सीटों पर सीधा नुकसान हुआ और बीजेपी के लिए जीत की राह आसान हुई.

ये भी पढ़ें- अब जौनपुर में गरजा योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर, भूमाफिया के अवैध गोदाम को प्रशासन ने ढहाया

यहां बसपा की वजह से मेरठ दक्षिण, महमूदाबाद, जौनपुर, अलीगढ़, पीलीभीत, रायबरेली, सीतापुर, मुरादाबाद नगर, मुगलसराय, अलीगंज, बहराइच, बासगांव, बढ़ापुर, बिसवां, बख्शी का तालाब, छिबरामऊ, ददरौला, फिरोजाबाद, खलीलाबाद, गंगोह, कोल, लोनी, मेंहदावल, मोहम्मदी, नकुड़, नानपारा, नवाबगंज, पथरदेवा, रुदौली और श्रीनगर सीटों पर सपा को नुकसान हुआ.

ये भी पढ़ें- जयंती विशेष : डॉ. राममनोहर लोहिया को खूब भाती थी चंबल की खूबसूरती

मायावती की इस रणनीति की वजह से सपा के कई धुरंधर भी चुनाव हार गए. इनमें सबसे प्रमुख नाम बसपा से भाजपा में जाकर विधायक और मंत्री बनने वाले धर्म सिंह सैनी का है, जो इस बार सपा के टिकट पर अपने ही गढ़ नकुड़ से चुनाव हार गए. इसके अलावा सीतापुर की महमूदाबाद विधानसभा सीट से दो बार के विधायक रहे नरेंद्र वर्मा भी मुस्लिम वोटों के बंटवारे से चुनाव हार गए.

Tags: BSP, Mayawati, UP election results

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर