बुलंदशहर: साधुओं की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा, ये रही असल वजह

साधुओं की हत्या के पीछे सामने आया 'चिमटा' विवाद

साधुओं की हत्या के पीछे सामने आया 'चिमटा' विवाद

एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मंदिर परिसर से एक चिमटा चोरी हो गया था. बाबा जगदीश दास ने चिमटा चोरी का शक गांव के ही एक नशेड़ी युवक मुरारी के ऊपर जताया था.

  • Share this:
बुलंदशहर. यूपी के बुलंदशहर (Bulandshahr) में सोमवार की देर रात दो साधुओं (Two Saints) की हत्या (Murder) के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. दरअसल दोनों साधुओं की हत्या के पीछे एक चिमटा चोरी सबसे बड़ी वजह सामने आ रही है. घटना के बाद चौकीदार अमीचंद ने हत्या की एफआईआर दर्ज कराई है. गांव के चौकीदार अमीचंद ने पुलिस में दर्ज कराई एफआईआर में लिखा है कि सुबह 5 बजे जब वह टहलते हुए शिव मंदिर परिसर में पहुंचा तो उसने बाबा जगदीश दास और बाबा सेवादास का खून से लथपथ शव देखा. एफआईआर में चौकीदार अमीचंद ने आगे लिखा है कि उसने गांव के ही युवक मुरारी को मंदिर परिसर से भागते हुए देखा और उसके हाथ में तलवार जैसा कोई हथियार भी था. अमीचंद ने ही पुलिस को सूचना दी.



एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मंदिर परिसर से एक चिमटा चोरी हो गया था. बाबा जगदीश दास ने चिमटा चोरी का शक गांव के ही एक नशेड़ी युवक मुरारी के ऊपर जताया था. जिससे मुरारी बाबा से नाराज था और उसने बाबा को देख लेने की धमकी भी दी थी. पुलिस ने आरोपी मुरारी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस उनसे विस्तृत पूछताछ कर रही है.



आरोपी ने पूछताछ में खुलासा किया है कि दोनों साधुओं की हत्या डंडे से पीटकर की है. चूंकि दोनों घटना के वक्त भी नशे में थे. गिरफ्तार किए जाने के बाद भी वे नशे में थे. इसी दौरान पूछताछ में आरोपियों ने कहा कि भगवान की इच्छा थी. रात में वे मंदिर गए थे. वहां साधुओं के पास डंडा पड़ा था, जिससे उन्होंने उनकी हत्या कर दी.





सीएम योगी ने घटना की मांगी रिपोर्ट
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने ग्राम पगौना, थाना अनूपशहर, जनपद बुलंदशहर में हुई हत्या की घटना का संज्ञान लिया है. उन्होने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को तुरंत मौके पर पहुँच कर घटना के सम्बन्ध में विस्तृत आख्या देने तथा दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाई सुनिश्चित करने निर्देश दिए हैं.



ये भी पढे़ं:



देवरिया: बीजेपी विधायक सुरेश तिवारी की विवादित अपील- 'मुस्लिम विक्रेताओं से न खरीदें सब्जी'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज