पंचायत चुनाव में मुलायम और संगीत सोम के रिश्‍तेदारों को मिली पटखनी
Bulandshahr News in Hindi

पंचायत चुनाव में मुलायम और संगीत सोम के रिश्‍तेदारों को मिली पटखनी
यूपी के बुलंदशहर पंचायत चुनाव में उम्मीदवार समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष बादल यादव बुरी तरह पराजित हुए हैं. बादल को सपा नेता और जिला पंचायत परिषद की अध्यक्ष आशा यादव ने तगड़ी शिकस्त दी है.

यूपी के बुलंदशहर पंचायत चुनाव में उम्मीदवार समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष बादल यादव बुरी तरह पराजित हुए हैं. बादल को सपा नेता और जिला पंचायत परिषद की अध्यक्ष आशा यादव ने तगड़ी शिकस्त दी है.

  • Share this:
यूपी के बुलंदशहर पंचायत चुनाव में उम्मीदवार समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष बादल यादव बुरी तरह पराजित हुए हैं. बादल को सपा नेता और जिला पंचायत परिषद की अध्यक्ष आशा यादव ने तगड़ी शिकस्त दी है.

बीजेपी विधायक संगीत सोम के रिश्तेदार अजय मान पंचायत चुनाव में चित हो गए हैं. सपा नेता और लालूयादव के समधी जितेन्द्र यादव भी अपने किसी उम्मीदवार को जीत नहीं दिला सके. आशा यादव की टक्कर में खड़े जितेन्द्र यादव समर्थित उम्मीदवार आशा के मुकाबले आधे वोट भी नहीं पा सके. जिले के 53 जिला पंचायत वार्डो में सबसे प्रतिष्ठित सीट वार्ड नं0 12 से जिला पंचायत परिषद अध्यक्ष आशा यादव दूसरी बार किस्मत आजमाने उतरी थीं.

आशा को हराने के लिए विरोधी पार्टियों के अलावा खुद समाजवादी पार्टी के नेता चुनाव मैदान में थे. सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष बादल यादव को तगड़ी शिकस्त देते हुए आशा ने चारों खाने चित कर दिया है. बादल चौथे स्थान पर रहे. इसके अलावा एमएलसी और लालूयादव के समधी जितेन्द्र यादव ने आशा के मुकाबिल अजय यादव को खड़ा किया था. अजय आशा से आधे वोट भी नही पा सके.



आशा ने सर्वाधिक 13694 वोट हासिल किये. जितेन्द्र यादव सिकन्द्राबाद से विधानसभा 2017 में अपने बेटे को समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ाना चाहते है. इसी चुनाव की जमीन तैयार करने के लिए जितेन्द्र यादव ने अपने कई उम्मीदवार सपा प्रत्याशियों के मुकाबले खड़े किए थे, लेकिन जितेन्द्र के सभी प्रत्याशी हार गए. सिकंदराबाद में सपा नेता और आशा यादव के पति हरेन्द्र यादव ने बीजेपी प्रत्याशी को हराकर जीत दर्ज की है.
इसके अलावा सपा नेता शशांक भाटी और जुगेन्द्र यादव की पत्नी ममता यादव चुनाव जीती है. अनूपशहर से बसपा विधायक गजेन्द्रसिंह अपने तीन उम्मीदवारों को जिताने में सफल रहे, लेकिन उनके बेहद खास मनोज खालौर चुनाव हार गए हैं. मनोज को कांग्रेस के उम्मीदवार सुनील चरौरा ने भारी मतों से शिकस्त दी है. सुनील चरौरा को विधानसभा 2017 में गजेन्द्रसिंह के मुकाबिल कांग्रेस उम्मीदवार माना जा रहा है.

सबसे मजेदार हार बीजेपी विधायक संगीत सोम के रिश्तेदार अजय मान की रही है. अजय मान चुनाव में अपने मुकाबिल प्रत्याशियों से अपनी जमानत तक नहीं बचा सके. संगीत सोम ने अजयमान की जीत के लिए कई दिनों तक बुलंदशहर के चुनाव प्रचार में अपनी जान फूंकी थी और मीडिया एक्सपोजर पाने के लिए आजम खान को निशाने पर रखकर विवादित बयान भी दिया था. जिले की 53 सीटों में बीजेपी के महज 16-17 सीटों पर ही जीत हासिल हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading