बुलंदशहर: आशा ट्रेडर्स पर छापा, 6 हज़ार लीटर रिफाइंड आयल जब्त

बुलंदशहर की खाद्य सुरक्षा टीम ने फैक्ट्री से बिना लाइसेंस के बनाया जा रहा रिफाइंड और तिल का तेल जब्त किया है. इस फैक्ट्री को केवल सरसों तेल के लिए लाइसेंस जारी किया गया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2018, 3:25 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2018, 3:25 PM IST
बुलंदशहर के सिकन्द्राबाद जेवर रोड़ स्थित आशा ट्रेडर्स पर खाद्य सुरक्षा टीम ने छापा मारा. बुलंदशहर की खाद्य सुरक्षा टीम ने फैक्ट्री से बिना लाइसेंस के बनाया जा रहा रिफाइंड और तिल का तेल जब्त किया है. इस फैक्ट्री को केवल सरसों तेल के लिए लाइसेंस जारी किया गया था. फैक्ट्री में काम करने वाले लोगों में एक नाबालिग भी पैकिंग करता पाया गया.

दरअसल बुलंदशहर खाद्य सुरक्षा विभाग को शिकायत मिल रही थी कि सिकन्द्राबाद के जेवर रोड़ स्थित आशा ट्रेडर्स में डबल चक्र के नाम से सरसों तेल की पैकिंग की जाती थी लेकिन इस फैक्ट्री में सरसों तेल के साथ ही रिफाइंड और तिल के तेल की भी बड़ी मात्रा में पैकिंग कराई जा रही थी.

फ़ूड सेफ्टी ऑफिसर्स की मानें तो फैक्ट्री संचालक मनोज ने इस फैक्ट्री के लिए सरसों तेल का लाइसेंस लिया था लेकिन सरसों तेल की आड़ में मनोज यहां रिफाइंड और तिल के तेल की भी पैकिंग कराता था. वीडियो में आप देख सकते हैं कि फैक्ट्री में किस तरह तेल के साथ रिफाइंड और तिल के तेल की पैकिंग का भी खेल चल रहा है जबकि सरसों तेल की पैकिंग करता दिख रहा यह मजदूर नाबालिग बताया जा रहा है.

हालांकि अपनी टीम के साथ फैक्ट्री पहुंचे अधिकारी डा० गौरी शंकर ने फैक्ट्री में 6 हज़ार लीटर रिफाइंड आयल, 5 सौ लीटर सरसों तेल और डेढ़ सौ लीटर तिल के तेल को सीज़ कर दिया है. तीनों तेलों के सैंपल जांच के लिए प्रयोगशाला भेज दिए गए हैं. जांच के बाद ही ये साफ हो सकेगा कि कहीं यहां मिलावटी तेल का खेल भी तो नहीं चल रहा था?

रिपोर्ट - सैय्यद अली शरर

ये भी पढ़ें -

ग्रेटर नोएडा : शाहबेरी में इमारत ढहने के मामले में पांचवा आरोपी कासिम गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा: शाहबेरी से निकाला गया एक और शव, मरने वालों की संख्या हुई नौ

बिल्डिंग हादसा: अब तक निकाले गए 8 शव, मलबा हटाने में लग सकते हैं दो और दिन
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर