Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: यूपी में गजब चुनावी खेल, जेल से चुनाव लड़ेंगे बुलंदशहर दंगे के आरोपी

UP Chunav 2022: यूपी में गजब चुनावी खेल, जेल से चुनाव लड़ेंगे बुलंदशहर दंगे के आरोपी

यूपी चुनाव में स्याना सीट के लिए जेल से चुनाव लड़ेंगे योगेश राज.

यूपी चुनाव में स्याना सीट के लिए जेल से चुनाव लड़ेंगे योगेश राज.

UP Assembly Election: हिंसा के आरोपी योगेश राज ने जेल में रहते हुए नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर दी है. वह स्याना विधानसभा क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. योगेश जेल में रहकर ही चुनाव प्रचार भी करेंगे. इस नामांकन की खासी चर्चा हो रही है.

अधिक पढ़ें ...

बुलंदशहर. उत्‍तर प्रदेश में चुनाव के दौरान नए रंग देखने को मिल रहे हैं. हर कोई इस चुनाव में अपना भाग्य आजमाना चाहता है. ऐसे में एक शख्स ऐसा भी है जो जेल में है और चुनावी मैदान में उतर रहा है. हम बात कर रहे हैं बुलंदशहर दंगे के आरोपी योगेश राज की, जो इस समय जेल में बंद हैं. योगेश ने जेल में रहते हुए नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर दी है और वे बुलंदशहर के स्याना विधानसभा क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. योगेश जेल में रहकर ही चुनाव प्रचार भी करेंगे और वहीं से लड़ेंगे. इस नामांकन की खासी चर्चा हो रही है.

पीटीआई के अनुसार, नामांकन एफिडेविट में योगेश की उम्र 26 साल लिखी हैऔर उन्हें 12वीं पास बताया गया है. 10 फरवरी को होने जा रहे पहले चरण के चुनाव में वे स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर हिस्सा लेंगे.

आपको बता दें कि चिंगारवठी गांव में गोकशी के बाद 3 दिसम्बर 2018 को हिंसा भड़क गई थी. इस हिंसा के दौरान उस समय तैनात इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली लग गई थी और वे शहीद हो गए थे. साथ ही इस दौरान सुमित नाम के एक लड़के को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था. इसके बाद हुई कार्रवाई में पुलिस ने योगेश राज को मुख्य आरोपी बताया था. हिंसा को लेकर 27 लोगों के नाम सामने आए थे और कुल 80 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई थी. योगेश घटना के समय बुलंदशहर यूनिट के बजरंग दल के संयोजक थे. लेकिन वे दल के सदस्य नहीं हैं.

इस मामले के बाद योगेश को 9 महीने जेल में रहना पड़ा था, फिर उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी और उनकी जमानत मंजूर हो गई थी. इसके बाद योगेश ने राज्य जिला पंचायत का चुनाव लड़ा और वे जीत गए. उधर, शहीद सुबोध कुमार की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में केस को लेकर याचिका दर्ज की. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने जमानत कैंसल कर दी और योगेश को सरेंडर करने का आदेश दिया. योगेश काफी समय से चुनाव लड़ने का मन बनाए हुए थे. यही कारण है कि उन्होंन जेल से नामांकन भरा है.

Tags: UP chunav, Uttarakhand Assembly Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर