अपना शहर चुनें

States

बुलंदशहर: वर्ष 2020 में जिले के 139 इनामी बदमाशों में 115 से पुलिस का एनकाउंटर, 34 ने किया सरेंडर

बुलंदशहर के एसएसपी अजय कुमार सिंह
बुलंदशहर के एसएसपी अजय कुमार सिंह

एसएसपी संतोष कुमार सिंह (SSP Santosh Kumar Singh) का कहना है कि बुलंदशहर जनपद को अपराध मुक्त बनाया जा रहा है.

  • Share this:
बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr) जनपद में पुलिस ने 1 जनवरी 2020 से लेकर अब तक चोर, लुटेरे, गुंडे और हत्या करने वाले सुपारी किलर से लेकर अवैध शराब कारोबारी और जुआ सट्टा कराने वाले अपराधियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर कार्रवाई की. हालांकि जनपद में अपराध फिर भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. वैसे जनपद में बढ़ते अपराध पर एसएसपी लगातार पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं. एसएसपी संतोष कुमार सिंह (SSP Santosh Kumar Singh) का कहना है कि बुलंदशहर जनपद को अपराध मुक्त बनाया जा रहा है.

571 अपराधियों पर गुण्डा एक्ट

जानकारी के अनुसार अब तक जनपद में 571 अपराधियों पर गुण्डा एक्ट के तहत कार्रवाई हुई है, जिसमें से 85 अपराधी जिला बदर और 121 अपराधी पाबन्द किए गए हैं. इनामी बदमाशों की बात करें तो अब तक जनपद में कुल 139 इनामी बदमाश थे, जिसमें से 115 बदमाशों के साथ पुलिस एनकाउंटर हुआ. इनमें से 37 पुलिस गोली लगने से घायल हुए और 34 इनामी बदमाशों ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया. 68 इनामी बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इनके अलावा पुलिस ने 6 गैंगस्टर्स की 1 करोड़ 33 लाख 98 हजार रुपए की संपत्ति को भी जब्त किया.



अवैध असलहों, शराब का जखीरा बरामद
अपराधियों से बरामद अवैध हथियारों की बात की जाए तो अब तक 871 तमंचे, 9 रिवाल्वर, 3 पिस्टल, 12 बंदूक और रायफल, 923 चाकू, 5 शस्त्र बनाने वाली फैक्ट्री और 1497 कारतूस बरामद किए गए हैं. वहीं बात अगर अवैध शराब तस्करी की हो तो 39514 लीटर अंग्रेजी शराब और 26509 लीटर देशी शराब भी बरामद हुई है, जिसमें 2162 तस्कर गिरफ्तार किए हैं और 11 शराब की भट्टी भी खत्म की गईं हैं.

लेकिन अपराध नहीं हो रहा कम

अब तक जनपद के 14 अपराधियों के खिलाफ रासुका की कार्यवाही भी हो चुकी है, जिसमें 6 हत्या आरोपी, 4 रेप के आरोपी और 2 गौकशी के अलावा 2 अन्य अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है. जनपद में अब तक सबसे ज्यादा लूट, डकैती, चोरी, और हत्या करने वाले अपराधी हैं, जिनके खिलाफ पुलिस ने गुंडा एक्ट, जिलाबदर से लेकर रासुका तक कि कार्यवाही की है. लेकिन बावजूद इसके जनपद में अपराध थमने का नाम नही ले रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज