होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /सज-धज कर दुल्हन करती रही इंतजार, दहेज में कार न मिलने पर दूल्हा लेकर नहीं पहुंचा बारात

सज-धज कर दुल्हन करती रही इंतजार, दहेज में कार न मिलने पर दूल्हा लेकर नहीं पहुंचा बारात

Bulandshahr News: दहेज़ में कार न मिलने पर बारात नहीं लाया दूल्हा

Bulandshahr News: दहेज़ में कार न मिलने पर बारात नहीं लाया दूल्हा

Bulandshahr News: 4 दिसम्बर को राखी की बारात गांव में आनी थी, लेकिन दीपक बारात लेकर गांव नहीं पहुंचा। वधु पक्ष को चिंता ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राखी का विवाह शिकारपुर क्षेत्र के दीपक के साथ तय हुआ था
4 दिसंबर को राखी की बारात आनी थी, लेकिन नहीं आई
लड़की पक्ष का आरोप है कि लड़के वालों ने कार की डिमांड की थी

बुलंदशहर. यूपी के बुलंदशहर में दूल्हा बारात लेकर नहीं आया और दुल्हन इंतज़ार करती रही. लड़की पक्ष के लोगों ने बताया कि सगाई के बाद वर पक्ष के लोगों ने शादी में स्विफ्ट डिजायर कार की मांग की थी और न मिलने पर हाथों पर मेहंदी लगाकर बैठी दुल्हन बारात का इंतजार करती रही, मगर बारात नहीं पहुंची। जिसके बाद दुल्हन ने वधु पक्ष की शिकायत गुलावठी थाने में की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है.

हाथों में रची महेंदी और बारात के स्वागत में सजा पंडाल, यह तस्वीर है, बुलंदशहर के थाना गुलावठी में एक शादी समारोह की है. दरअसल, गुलावठी थाना क्षेत्र के गांव नयाबास निवासी राखी का विवाह शिकारपुर क्षेत्र के दीपक के साथ तय हुआ था. 4 दिसम्बर को राखी की बारात गांव में आनी थी, लेकिन दीपक बारात लेकर गांव नहीं पहुंचा। वधु पक्ष को चिंता हुई तो बारात के बारे में जानने के लिए वधु पक्ष के लोगों ने वर पक्ष को फोन किया, मगर वर पक्ष की ओर से कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया. जैसे-जैसे समय गुज़रता गया वधु पक्ष की धड़कनें बढ़ती गई. शादी की तमाम उम्मीद टूटने के बाद पीड़ित दुल्हन गुलावठी कोतवाली पहुंच गई और बाकायदा दूल्हा पक्ष की शिकायत की.
" isDesktop="true" id="5024297" >
पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप
आरोप है कि थाना गुलावठी पुलिस ने शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की. गुरुवार को पीड़ित दुल्हन अपने परिजनों के साथ एसएसपी दफ्तर पहुंची और न्याय की गुहार लगाई. राखी का आरोप है कि दीपक को सीआईएसएफ में तैनात बताया था. शादी के दिन लड़की के परिजनों को जानकारी हुई कि दूल्हे की नौकरी सीआईएसएफ में नहीं है, तो उन्होंने विरोध किया, लेकिन गांव वालों के समझाने पर शादी के लिए रजामंद भी हो गए. बावजूद इसके दीपक बारात लेकर नहीं पहुंचा.

Tags: Bulandshahr news, UP latest news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें