भ्रष्टाचार में फंसे अपने सचिव से मंत्री ने झाड़ा पल्ला, कहा-उनसे कोई संबंध नहीं
Bulandshahr News in Hindi

प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे उनके निजी सचिव से उनका कोई संबंध नहीं है. उनका कहना है कि जिस समय की यह घटना है उस समय वे दफ्तर में मौजूद नहीं थे और ना ही इस प्रकरण से उनका कोई लेना देना है.

  • Share this:
भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देने का दावा करने वाली भाजपा के मंत्री संदीप सिंह ने भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे अपने निजी सचिव से पल्ला झाड़ लिया है. उन्होंने दो टू कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे उनके निजी सचिव से उनका कोई संबंध नहीं है. उनका कहना है कि जिस समय की यह घटना है उस समय वे दफ्तर में मौजूद नहीं थे और ना ही इस प्रकरण से उनका कोई लेना देना है.

उन्होंने कहा कि सपा और बसपा का गठबंधन मोदी जी को हराने के लिए हुआ है. लेकिन आगामी चुनावों में भाजपा पहले से ज्यादा सीटें जीतकर आएगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने परिषदीय स्कूलों को कान्वेंट की तर्ज पर शिक्षा देने का काम किया है.

बता दें कि प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री संदीप सिंह बुलंदशहर में आयोजित शिक्षक सम्मेलन में शिरकत करने आए थे. गौरतलब है कि प्रदेश सरकार के तीन मंत्रियों के सचिव एक निजी टीवी चैनल के स्टिंगऑपरेशन में फंस गए थे. भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे तीनों मंत्रियों के निजी सचिव ओम प्रकाश कश्यप, राम नरेश त्रिपाठी और संतोष कुमार अवस्थी को गिरफ्तार कर लिया गया था.



इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीनों को निलंबित कर एफआईआर करने के आदेश दिये थे और इसकी जांच के लिए एडीजी जोन राजीव कृष्ण की अध्यक्षता में एसआईटी गठित की थी. सभी अखबारों ने इस खबर को प्रमुखता से छापा था. (रिपोर्ट-सैय्यद अली शरर)
ये भी पढ़ें: यूपी सरकार के 3 मंत्रियों के निजी सचिव रिश्वत मांगने में फंसे, जांच के आदेश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज