COVID 19: बुलंदशहर में जिला महिला अस्पताल सील, 4 Corona Positive मिले
Bulandshahr News in Hindi

COVID 19: बुलंदशहर में जिला महिला अस्पताल सील, 4 Corona Positive मिले
जिले में 24 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. इनमें से एक व्यक्ति की 10 अप्रैल को मौत हो गई थी. (सांकेतिक फोटो)

अस्पताल के फार्मासिस्ट के पॉजि‌टिव मिलने के बाद सील किया गया अस्पताल, वहीं तीन अन्य मरीज वे जो संक्रमित चिकित्सक के संपर्क में आए थे जिसकी हाल ही में मौत हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2020, 6:26 AM IST
  • Share this:
बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona) का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब बुलंदशहर में चार और कोरोना पॉजिटिव सामने आए हैं. इनमें से एक जिला महिला अस्पताल का फार्मासिस्ट है. वहीं तीन अन्य लोग वे हैं जो कोरोना संक्रमित डॉक्टर के संपर्क में आए थे जिसकी हाल ही में मौत हो गई. तीनों शिकारपुर के रहने वाले हैं वहीं फार्मासिस्ट के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जिला महिला अस्पताल को सील कर दिया गया है. इसके साथ ही जिले में 24 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. इनमें से एक व्यक्ति की 10 अप्रैल को मौत हो गई थी.

घर भी किया सील
फार्मासिस्ट के पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन ने उसका राधानगर कॉलोनी में घर भी सील कर दिया है. इसके साथ ही संक्रमित के संपर्क में आए लोगों को ट्रेस कर क्वारेंटाइन में भेजा जा रहा है. फार्मासिस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के साथ ही जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर महिला अस्पातल को सील करते हुए इमरजेंसी सेवाओं पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी है.

यूपी में संक्रमण के मामले बढ़कर 1294 हुए
मंगलवार को प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब तक 1294 केस सामने आए हैं. इनमें 1134 एक्टिव केस हैं. उपचार के बाद 1294 में से 140 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है. प्रदेश के 53 जनपद कोरोना से प्रभावित हैं.



अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि कोटा से आए बच्चों पर सीएम हेल्पलाइन से निगरानी रखी जाए. सीएम योगी ने रमजान के मौके पर अधिकारियों को विशेष हिदायत देते हुए कहा है कि आवश्यक सामग्री की डोर स्टेप डिलीवरी कराई जाए. सीएम योगी ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि रमजान के समय सहरी और रोजा इफ्तार घर पर ही करें.

कोविड संक्रमितों के इलाज के लिए ऑक्सीजन रखना अनिवार्य
अपर सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि लॉकडाउन की समीक्षा की गई. वहीं हॉटस्पॉट के बाहर भी टेस्टिंग के लिए कहा गया है. कोविड संक्रमितों के इलाज के लिए ऑक्सीजन रखना अनिवार्य किया गया है. पुलिस कर्मियों की सुरक्षा के लिए विशेष तौर पर कहा गया है. पीपीई किट की उपलब्धता और सप्लाई चेन बनी रहेगी. उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक एक करोड़ लोगों ने आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड किया है.

ये भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमण के कारण प्रशासन सख्त, दिल्ली-नोएडा बॉर्डर सील,इन्हें मिलेगी छूट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज