बदलेगी संस्कृत विद्यालयों की बदलेगी तस्वीर, कंप्यूटर सुविधा से लैस होंगे स्कूल

सीएम योगी चाहते हैं कि संस्कृत विद्यालयों में विज्ञान और कंप्यूटर क्लासेस भी चलाई जाएं, लेकिन मौजूदा दौर में प्रदेश के संस्कृत विद्यालयों की हालत खस्ताहाल है

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 4, 2018, 11:42 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 4, 2018, 11:42 PM IST
संस्कृत विद्यालयों में कंप्यूटर शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सूबे के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं. उन्होंने संस्कृत विद्यालयों में बच्चों को कंप्यूटर सुविधा देने की जरूरत पर बल दिया है. हालांकि बुलंदशहर जिले में स्थित संस्कृत आवासीय विद्यालय हालात बेहद खराब हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक सीएम योगी चाहते हैं कि संस्कृत विद्यालयों में विज्ञान और कंप्यूटर क्लासेस भी चलाई जाएं, लेकिन मौजूदा दौर में प्रदेश के संस्कृत विद्यालयों की हालत खस्ताहाल है. न्यूज 18 ने पड़ताल के दौरान पाया कि डीएवी चौराहा स्थित संस्कृत आवासीय विद्यालय की बिल्डिंग पूरी तरह जर्जर है, जो संस्कृत विद्यालयों के पुरसाहाल को बयां करती है.

यह भी पढ़ें-बुलंदशहर: प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम ने बच्चों को पढ़ाया

संस्कृत आवासीय विद्यालय के पढ़ने वाले छात्रों ने बताया कि स्कूल में सिर्फ एक अध्यापक हैं. हैरानी की बात यह है विद्यालय में तैनात एक मात्र शिक्षक को बच्चों को शिक्षा देने के अलावा विद्यालय की साफ-सफाई के साथ-साथ बावर्ची काम भी संभालना पड़ता हैं. बच्चों के मुताबिक उनके विद्यालय की सुध लेने कभी कोई सरकारी नुमाइंदा नहीं आया. हालांकि बच्चों को उम्मीद बंधी है कि अब उनके विद्यालय की सूरत बदलेगी.

यह भी पढ़ें-बुलंदशहर में आदमखोर कुत्तों का कहर, 72 घंटे में 349 बने शिकार

वहीं, संस्कृत विद्यालय में सह अध्यापक लक्ष्मीकांत ने संस्कृत विद्यालयों में कंप्यूटर शिक्षा को बढ़ावा देने की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि इससे विद्यालय में आने वाले छात्रों को मूलभूत सुविधाओं से नहीं जूझना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि सीएम योगी की पहल से संस्कृत विद्यालयों को लेकर सोई उम्मीद एक बार फिर जाग गई है. उन्होंने उम्मीद जताई है कि अब ज़रूर कोई प्रशासनिक नुमाइंदा विद्यालय की सुध लेगा और विद्यालय की हालत में सुधार जरूर होगा.

(रिपोर्ट- सैय्यद अली शरार, बुलंन्दशहर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर