बुलंदशहर हिंसा: मारे गए SHO के ड्राइवर की जुबानी वारदात की पूरी कहानी- VIDEO

बुलंदशहर मामले में सयाना पुलिस ने कुल 88 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसमें 28 नामजद जबकि साठ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. अभी तक दो लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है.

  • Share this:
बुलंदशहर में सोमवार को कथित रूप से अवैध बूचड़खानों को लेकर हुए बवाल के दौरान गोली लगने से स्याना के पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह सहित दो लोगों की मौत हो गई. इस घटना में मृतक इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गाड़ी के ड्राइवर रामाश्रय का वीडियो सामने आया है, जिसमें उसने पूरी घटना का आंखों देखा हाल बताया. उन्होंने कहा, 'घायल होने के बाद दरोगा सुबोध कुमार को मैं एक स्थानीय युवक विरेंद्र की मदद से अस्पताल ले जाने के लिए खेत से लाकर जीप में लाद रहा था. अचानक से भीड़ आ गई और कहने लगी 'मारो-मारो', जिसके बाद हम वहां से भाग गए. इस दौरान गोली भी चल रही थी.'

यूपी सरकार ने इस मामले की जांच एडीजी इंटेलिजेंस को सौंपी है, जो 48 घंटे के अंदर रिपोर्ट देंगे इसके साथ ही मेरठ रेंज के महानिरीक्षक की अध्यक्षता में एक एसआईटी का भी गठन किया गया है. बुलंदशहर में हुई घटना में पांच पुलिसकर्मी और करीब आधा दर्जन आम लोगों को भी मामूली चोटें आई हैं. भीड़ की हिंसा में कई गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचाया गया है तथा तीन कारों को आग लगा दी गई.

बुलंदशहर मामले में सयाना पुलिस ने कुल 88 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसमें 28 नामजद जबकि साठ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. अभी तक दो लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है. इन सभी पर हत्‍या और बलवे का आरोप है.



सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बुलंदशहर में हुई हिंसा पर दुख व्यक्त किया और इस घटना में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर के परिजन को कुल 50 लाख रुपये की सहायता का ऐलान किया. मुख्यमंत्री ने दो दिन के अंदर मामले की जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश भी दिया था.
ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर: भीड़ ने इंस्पेक्टर को पीटने के बाद सिर में मारी गोली- पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

बुलंदशहर हिंसा का लाइव वीडियो सामने आया, देखें कैसे हुई इंस्पेक्टर की मौत

बुलंदशहर इंस्पेक्टर की हत्या: गृह विभाग की मामले पर नजर, SIT करेगी जांच
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज