पालघर के बाद बुलंदशहर में दो साधुओं की धारदार हथियारों से हत्या, एक गिरफ्तार

बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्या

बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्या

बुलंदशहर (Bulandshahr) में सोमवार देर रात दो साधुओं की धारदार हथियारों से नृशंस हत्या (Murder) कर दी गई. साधुओं की हत्या से ग्रामीणों में काफी रोष है.

  • Share this:
बुलंदशहर. कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण को तेजी से फैलने से रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) जारी है. इसी कड़ी में सोमवार देर रात बुलंदशहर में दो साधुओं की धारदार हथियारों से नृशंस हत्या कर दी गई. साधुओं की हत्या से ग्रामीणों में काफी रोष है. फिलहाल घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस बल तैनात है. पुलिस ने साधुओं के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि हत्यारोपी मुरारी को गिरफ़्तार कर लिया गया है, वह नशे में है. उससे पूछताछ की जा रही है.

सीएम योगी ने घटना की मांगी रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने ग्राम पगौना, थाना अनूपशहर, जनपद बुलंदशहर में हुई हत्या की घटना का संज्ञान लिया है. उन्होने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को तुरंत मौके पर पहुँच कर घटना के सम्बन्ध में विस्तृत आख्या देने तथा दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाई सुनिश्चित करने निर्देश दिए हैं.

जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर पर पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगनदास उम्र (55) वर्ष और सेवादास (35) रहते थे. दोनों साधु मंदिर में रहकर पूजा-अर्चना में लीन रहते थे. सोमवार की देर रात मंदिर परिसर में ही दोनों साधुओं की धारदार हथियारों से प्रहार कर हत्या कर दी गई. मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर में पहुंचे तो उन्हें साधुओं के खून से लथपथ शव पड़े मिले. इसे देखकर बड़ी संख्या में ग्रामीण मंदिर पर पहुंचे.


ग्रामीणों ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी जिसके बाद सीओ अनूपशहर अतुल चौबे, कोतवाल मिथिलेश उपाध्याय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए. अभी घटना के पीछे कारण का पता नहीं चल सका है. सीओ अनूपशहर अतुल चौबे ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है.

गौरतलब है कि बीते 17 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो साधु और एक ड्राइवर की करीब 200 लोगों की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी.



इनपुट- ऋषभ मणि त्रिपाठी

ये भी पढ़ें:

प्रयागराज: 300 बसों से करीब 10 हजार प्रतियोगी छात्रों को घर पहुंचा रही योगी सरकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज