Home /News /uttar-pradesh /

Khurja Assembly Seat: 20 साल में दो बार बसपा जीती, पांच बार दूसरे नंबर पर रही, इस बार क्या होगा परिणाम

Khurja Assembly Seat: 20 साल में दो बार बसपा जीती, पांच बार दूसरे नंबर पर रही, इस बार क्या होगा परिणाम

UP Chunav 2022: खुर्जा विधानसभा सीट का चुनावी इतिहास दिलचस्प रहा है.

UP Chunav 2022: खुर्जा विधानसभा सीट का चुनावी इतिहास दिलचस्प रहा है.

Khurja Assembly Seat Election: दलित और मुस्लिम समीकरण के बदौलत खुर्जा सुरक्षित सीट पर बसपा की स्थिति मजबूत रही है. 1991 से लेकर 2017 के चुनाव तक विजेता या उपविजेता में से एक बसपा उम्मीदवार ही रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास भी एक बार इस सीट से विधायक रहे हैं. प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री अनिल शर्मा भी यहां से बसपा के टिकट पर दो बार विधायक रह चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

बुलंदशहर. परिसीमन के बाद 2008 में खुर्जा विधानसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित कर दी गई. बुलंदशहर जिले की यह सीट गौतमबुद्धनगर लोकसभा क्षेत्र का हिस्‍सा है. इस सीट पर 58 हजार के करीब जाटव मतदाताओं के बल पर 1991 से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) इस सीट पर मजबूत उपस्‍थिति दर्ज कराती रही है. हालांकि इन 20 सालों में हुए सात चुनावों में सफलता उसे दो बार ही मिली है. वह भी तब जब उसने ब्राह्मण उम्मीदवार उतारा. पांच बार उसे दूसरे नंबर पर संतोष करना पड़ा. वर्तमान में भाजपा के विजेंद्र सिंह यहां से विधायक हैं.

चीनी-मिट्टी (सिरेमिक) उत्‍पादों के लिए दुनिया में विख्‍यात खुर्जा से 1977 में पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबू बनारसी दास विधायक बने थे. शिकारपुर से भाजपा विधायक व प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री अनिल शर्मा 2002 और 2007 में बसपा के टिकट पर विधायक रह चुके हैं. 2008 में आरक्षित होने के बाद अनिल शर्मा 2012 में सीट बदलकर शिकारपुर चले गए. हालांकि उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद वह पार्टी बदलकर भाजपा में शामिल हो गए. 2012 के विधानसभा चुनाव में खुर्जा से कांग्रेस के बंसी सिंह पहाड़िया ने जीत का परचम फहराया था. बसपा के होराम सिंह दूसरे नंबर पर रहे थे. कांग्रेस को यह जीत 27 साल बाद नसीब हुई थी. 2017 में भाजपा के विजेंद्र सिंह जीते, दूसरे नंबर पर बसपा के अर्जुन सिंह रहे.

खुर्जा विधानसभा सीट में कुल मतदाताओं की संख्‍या 3.61 लाख है. इसमें सबसे अधिक 1.10 लाख क्षत्रिय वोटर हैं. जाट और ब्राह्मणों की संख्‍या 30-30 हजार है. 58 हजार जाटव मतदाता और 50 हजार मुस्लिम वोटर हैं. दोनों मिलकर जीत का मजबूत समीकरण बनाते हैं.

Tags: Bulandshahr news, UP Election 2022, UP news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर