Home /News /uttar-pradesh /

Bulandshahr Assembly Seat: 80 के दशक से लगातार दो बार जीत का रिकॉर्ड, क्या 2022 में भी कायम रहेगी परंपरा

Bulandshahr Assembly Seat: 80 के दशक से लगातार दो बार जीत का रिकॉर्ड, क्या 2022 में भी कायम रहेगी परंपरा

UP Chunav 2022: बुलंदशहर सदर विधानसभा सीट पर माफिया डीपी यादव ने बनाया था रिकॉर्ड.

UP Chunav 2022: बुलंदशहर सदर विधानसभा सीट पर माफिया डीपी यादव ने बनाया था रिकॉर्ड.

Bulandshahr Assembly Seat Election: बुलंदशहर विधानसभा सीट से माफिया डीपी यादव ने लगातार तीन बार जीतकर रिकॉर्ड बनाया था. 80 के दशक से इस सीट से हर उम्मीदवार लगातार दो बार जीतने में कामयाब रहा है. 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा विधायक ऊषा सिरोही के लिए इस परंपरा को बचाकर रखने की चुनौती होगी.

अधिक पढ़ें ...

बुलंदशहर. दिल्‍ली से 100 किमी की दूरी पर स्‍थित बुलंदशहर सदर विधानसभा सीट  80 के दशक से अपने जनप्रतिनिधि को दो-दो बार मौका देते आई है. बीच में माफिया डीपी यादव अपवाद हैं, जो लगातार तीन बार जीते. हालांकि तीनों ही बार विधानसभा ने अपना कार्यकाल पूरा नहीं किया और डीपी का पूरा कार्यकाल सिर्फ छह साल का ही रहा. बुलंदशहर सीट का मिजाज लहर के खिलाफ चलने का भी रहा है. जब पूरे देश में कांग्रेस को एकमुश्‍त वोट मिला करते थे, तब भी यहां कभी प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी तो कभी रिपब्‍लिक पार्टी ऑफ इंडिया के उम्‍मीदवारों ने जीत दर्ज की. 1991 के राम लहर में भी जब प्रदेश में भाजपा ने अपने दम पर बहुमत हासिल किया था, तब इस सीट से माफिया डीपी यादव ने चुनाव जीता था. वर्तमान में यहां से भाजपा की ऊषा सिरोही विधायक हैं.

डीपी यादव 1989 में जनता दल से, 1991 में जनता पार्टी सेकुलर से तो 1993 में मुलायम सिंह की समाजवादी पार्टी से जीतकर विधानसभा पहुंचे. इसके बाद 1996 और 2002 में भाजपा के महेंद्र सिंह यादव जीते. 2007 और 2012 में बहुजन समाज पार्टी से हाजी अलीम. 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के विरेंद्र सिरोही 23 हजार से अधिक वोटों से हाजी अलीम को हराकर विधायक बने. मार्च 2020 में विरेंद्र सिरोही की मौत के बाद नवंबर 2020 में यहां उपचुनाव हुए. तब तक हाजी अलीम की हत्‍या हो चुकी थी. बसपा ने मोहम्‍मद यूनुस को टिकट दिया, जबकि भाजपा ने विरेंद्र सिरोही की पत्‍नी ऊषा सिरोही को मैदान में उतारा. सपा ने अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था. 21 से अधिक वोटों से मोहम्‍मद यूनुस को हराकर ऊषा सिरोही जीतने में कामयाब हुईं.

अब तक हुए 18 चुनावों में यहां से सात बार मुस्‍लिम प्रत्‍याशी जीते हैं. इस सीट पर 3.85 लाख के करीब वोटर हैं. इसमें मुस्‍लिमों का संख्‍या करीब 1.15 लाख है. ओबीसी और सामान्‍य जाति के वोटर करीब 80-80 हजार हैं. अनुसूचित जाति के वोटर करीब 40 हजार हैं.

Tags: Bulandshahr news, UP Election 2022, UP news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर