VIDEO: बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध को ऐसे मारी गई गोली?

गोकशी के बाद हुए बवाल में कोतवाल सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या का पता लगाना पुलिस के लिए एक चुनौती बना हुआ था. सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो से पुलिस ने फौजी को चिन्हित किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 3:52 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 3:52 PM IST
3 दिसंबर को बुलंदशहर में गोकशी की अफवाह के बाद भड़की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. 11 सेकेंड के वीडियो में एक शख्स इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारता नजर आ रहा है. शख्स की शिनाख्त जीतू फौजी के रूप में हुई है जो महाव गांव का रहने वाला है. उसकी तैनाती जम्मू के श्रीनगर में हैं. घटना वाले दिन वह छुट्टी पर अपने गांव आया हुआ था. आरोप है कि जीतू ने इंस्पेक्टर को गोली मारने के बाद उसकी पिस्टल और मोबाइल भी लूट ली थी.

बवाल में कोतवाल सुबोध कुमार को गोली मारने वाले की पहचान करना पुलिस के लिए एक चुनौती बना हुआ था. सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो से पुलिस ने फौजी की पहचान की है. पुलिस का मानना है कि उक्त फौजी ने ही पत्थर लगने से गंभीर हालत में घायल कोतवाल सुबोध कुमार की हत्या की है, उनकी छीनी पिस्टल और मोबाइल भी उसी के कब्जे में है.

बुलंदशहर हिंसा का पूरा VIDEO: मारो...मारो... चिल्लाते हुए पत्थर फेंक रही थी भीड़

 



बुलंदशहर हिंसा: सीएम योगी ने जताई नाराजगी, घटना को बताया बड़े षड्यंत्र का हिस्सा

घटना को अंजाम देने के बाद फौजी वापस ड्यूटी पर चला गया. फौजी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम उपनिरीक्षक विजय गौतम के नेतृत्व में सीजेएम कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट लेने के बाद गुरुवार को जम्मू रवाना हो गई. साथ ही एसटीएफ की दो टीमें जम्मू रवाना हुई हैं. बता दें पुलिस की एफआईआर में भी जीतू फौजी का नाम दर्ज है. एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि टीमें जम्मू रवाना हो गईं हैं. आरोपी फौजी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार से मिले CM योगी, किए ये वादे

बुलंदशहर हिंसा के बाद गोकशी को लेकर ताबड़तोड़ छापे, शिक्षक भर्ती में CBI की FIR

महागठबंधन को लेकर कांग्रेस की बैठक में अखिलेश, माया के शामिल होने पर सस्पेंस

पूर्व सांसद उमाकांत यादव गए जेल, MP MLA कोर्ट ने 7 साल की सजा रखी बरकरार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर