लाइव टीवी

बर्खास्त होने थे फर्जी टीचर, जल गईं फाइलें, वेतन जा रहा 1.25 करोड़ रुपये

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 5:59 PM IST
बर्खास्त होने थे फर्जी टीचर, जल गईं फाइलें, वेतन जा रहा 1.25 करोड़ रुपये
इस मामले में खुद बीएसए ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कहा है कि आग लगी नहीं लगाई गई है. (Demo Pic)

ये पहला मौका नहीं है जब बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education Department) में आग लगी हो. इससे पहले अलीगढ़ (Aligarh) के भी 2 मंजिला कार्यालय के उस कमरे में आग (Fire) लगी थी जहां फर्जी शिक्षामित्रों (Fake Shiksha Mitra) का रिकॉर्ड रखा हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 5:59 PM IST
  • Share this:
आगरा. यूपी (UP) के कई जिलों में फर्जी शिक्षकों (Fake Teachers) की भर्ती (Appointment) के मामले सामने आ रहे हैं. कई जगह शिक्षक, बर्खास्त (Terminate) कर दिए गए हैं. कुछ जगह जांच पूरी हो गई तो बर्खास्तगी की कार्रवाई चल रही थी. कुछ जिले ऐसे भी हैं जहां शिक्षकों को बर्खास्तगी से संबंधित नोटिस भेजे जा रहे थे, लेकिन इसी तरह की कार्रवाई से पहले आगरा (Agra) के बेसिक शिक्षा अधिकारी (BSA) कार्यालय में आग लग गई. आग में वो सभी फाइलें भी जल गईं जो फर्जी शिक्षकों से जुड़ी हुईं थी.

दो मंजिल दफ्तर के सिर्फ एक कमरे में ही लगी आग
3 दिन पहले आगरा के बीएसए कार्यालय में आग लग गई थी. अब इसे संयोग कहें या कुछ और कि आग 2 मंजिल वाले इस कार्यालय के सिर्फ एक कमरे में ही लगी. ये वो कमरा था जहां फर्जी शिक्षकों की जांच से संबंधित उनकी फाइलें रखी हुईं थी. आगरा में 214 फर्जी शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच चल रही है. आग में सभी फाइलें जलकर खाक हो गई हैं. आग से कार्यालय के किसी और कमरे और रिकॉर्ड को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

बर्खास्तगी की होनी थी कार्रवाई, भेजे जा रहे थे नोटिंस

बीएसए आगरा ओमकांर सिंह की मानें तो आरोपी शिक्षकों को बर्खास्तगी से संबंधित नोटिस भेजे जा रहे थे. एक नोटिस भेजा भी जा चुका है. आगे की कार्रवाई चल रही थी. एसआईटी में फर्जी शिक्षकों से संबंधित सभी जांच पूरी हो चुकी है. तीसरा नोटिस भेजे जाने के बाद बर्खास्तगी की जानी थी. ज्यादातर आरोपी शिक्षकों पर बीएड की फर्जी डिग्री इस्तेमाल करने का आरोप है.

1.25 करोड़ रुपये हर महीने जा रहा है वेतन
जानकारों की मानें तो जिन शिक्षकों पर फर्जी दस्तावेज इस्तेमाल करने और एसआईटी की जांच में आरोपी बनाए जाने का आरोप है, उनकी संख्या करीब 214 है. सभी शिक्षकों की फाइलें इस एक ही कमरे में रखी हुई थीं. ये वो 214 शिक्षक हैं, जिन्हें हर महीने करीब 1.25 करोड़ रुपये वेतन जारी हो रहा है. ये सभी शिक्षक बीते 10-12 साल से वेतन पा रहे हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें-

सीएम योगी ने साधा कांग्रेस पर निशाना, कहा- देश में संकट आएगा तो राहुल गांधी खड़े नहीं होंगे

अयोध्या विवाद पर मौलाना रशीद फिरंगी का बयान- कभी दूसरा पक्ष जमीन देने की बात क्यों नहीं कहता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आगरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 5:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...