बाहुबली अतीक अहमद के ठिकानों पर CBI छापे, 40 से ज्यादा अधिकारी तलाश रहे सबूत

CBI ने बाहुबली नेता के कई ठिकानों पर छापे मारे हैं. जानकारी के अनुसार, जांच एजेंसी ने अतीक के इलाहाबाद स्थित घर और दफ्तर पर भी छापेमारी की है.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 11:03 AM IST
बाहुबली अतीक अहमद के ठिकानों पर CBI छापे, 40 से ज्यादा अधिकारी तलाश रहे सबूत
अतीक पर सीबीआई ने यह कार्रवाई काेर्ट का आदेश आने के बाद की है.
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 11:03 AM IST
गैंगस्‍टर से नेता बने अतीक अहमद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है. CBI ने बाहुबली नेता के कई ठिकानों पर छापे मारे हैं. जानकारी के अनुसार, जांच एजेंसी ने अतीक के इलाहाबाद स्थित घर और दफ्तर पर भी छापेमारी की है. जांच अधिकारी फिलहाल जांच पड़ताल में जुटे हैं. देवरिया जेल कांड के बाद कोर्ट ने आदेश जारी किया था, जिसके बाद केंद्रीय जांच एजेंसी ने अतीक के खिलाफ यह कार्रवाई की है. बता दें कि अतीक अहमद को उत्‍तर प्रदेश से गुजरात के जेल में भेज दिया गया है.

चार टीमें सर्च अभियान में जुटी

सीबीआई की चार टीमें अतीक अहमद के ऑफिस और घर पर छापेमारी कर रही है. चारों टीम में लगभग चालीस अधिकारी सर्च अभियान में लगे हैं. अतीक अहमद के चकिया में स्थित आवास, आफिस, और बड़ा ताजिया के पास अतीक के करीबी रेहान खान के घर पर सीबीआई की छापेमारी की कार्रवाई चल रही है. अतीक के घर और आफिस के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद है. अतीक अहमद के ठिकानों पर छापेमारी से हड़कम्प मचा हुआ है. देवरिया जेल में लखनऊ के कारोबारी मोहित जयसवाल की पिटाई मामले में कोर्ट के आदेश पर छापेमारी हो रही है. अतीक पर आरोप है कि उन्होंने अपने गुर्गों से मोहित जायसवाल को अगवा करा लिया था और देवरिया जेल में पिटाई की थी. मोहित जायसवाल की चार कंपनियां भी अतीक और उसके गुर्गों के नाम पर करने का आरोप है. अतीक अहमद के खिलाफ मोहित जायसवाल ने सुप्रीम कोर्ट की शरण ली थी जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर नैनी सेन्ट्रल जेल से अतीक  अहमद को अहमदाबाद जेल शिफ्ट किया गया है. कोर्ट के आदेश पर ही अतीक के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई चल रही है.

अतीक के घर बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स लगी है


देवरिया जेल की बैरक नंबर-7 में सजता था अतीक अहमद का दरबार

इससे पहले पूर्व सांसद और माफिया अतीक अहमद द्वारा देवरिया जेल में लखनऊ के व्यापारी की पिटाई मामले में गठित जांच टीम की रिपोर्ट में कई खुलासे हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक देवरिया जेल की बैरक नंबर सात में अतीक अहमद का दरबार लगता था. जेल मैनुअल की धज्जियां उड़ाते हुए रोजाना इस बैरक में 8-9 लोग मौजूद रहते थे.

रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि जिस दिन व्यापारी मोहित जायसवाल को अगवा कर देवरिया जेल ले जाया गया उस दिन भी बैरक में 13 लोग मौजूद थे. उनके जाने के बाद जेल प्रशासन के अफसरों ने सीसीटीवी फुटेज के साथ छेड़छाड़ कर इसे मिटाने की भी कोशिश की.
Loading...

देवरिया जेल में हुई थी मोहित जायसवाल की पिटाई

बता दें लखनऊ के रीयल एस्टेट कारोबारी मोहित जायसवाल का 26 दिसंबर 2018 को अपहरण कर देवरिया जेल ले जाया गया जहां उनकी पिटाई की गई थी. पिटाई से उनके हाथ की उंगली टूट गई थी. मामला मीडिया में आने के बाद डीएम अमित किशोर ने एडीएम प्रशासन राकेश पटेल और एएसपी शिष्यपाल सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यों की जांच टीम गठित की थी.

जांच में यह बात सामने आई है कि मोहित जायसवाल को अगवा कर लखनऊ से देवरिया जेल लाया गया था. वहां जेल के अंदर अतीक अहमद और उसके गुर्गों ने उसकी पिटाई की थी. इतना ही नहीं मुलाकाती रजिस्टर में मोहित का नाम अतीक से मिलने वालों की सूची में भी दर्ज है.
First published: July 17, 2019, 8:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...