सोने की खदानें मिलने से चर्चाओं में आया सोनभद्र अब इसलिए CBI के रडार पर है

सीबीआई ने यूपी के सोनभद्र में छापेमारी की है. (फाइल फोटो)
सीबीआई ने यूपी के सोनभद्र में छापेमारी की है. (फाइल फोटो)

युवक इंटरनेट (Internet) पर वायरल करने की धमकी देते हुए बच्चों के परिवार वालों को ब्लैकमेल भी करता था. सीबीआई ने इस मामले में अनपरा कोतवाली में पॉक्सो और आईटी एक्ट (IT Act) में एफआईआर (FIR) दर्ज कराई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हज़ारों टन सोने की खदाने (Gold mines) मिलने की खबर के बाद यूपी का सोनभद्र (Sonbhadra) एक बार फिर से चर्चाओं में है. लेकिन चर्चाओं में आई नई खबर सोनभद्र को शर्मसार करने वाली है. सोनभद्र अब दिल्ली (Delhi) यूनिट की सीबीआई (CBI) टीम के रडार पर आ गया है. सीबीआई ने सोनभद्र के अनपरा में छापा मारा है. यहां से बीटेक डिग्रीधारी एक युवक को हिरासत में लिया है. युवक पर आरोप है कि वो इंटरनेट पर चाइल्ड पोर्नग्राफी (Child pornography) का धंधा करता है.

ऐसे पकड़ा गया फरार आरोपी युवक

यह भी पढ़ें- लोकसभा में सरकार ने बताया किस उम्र के कितने लोग कौनसा नशा कर रहे हैं



जानकारी के मुताबिक बीते काफी समय से सोशल मीडिया पर सक्रिय कुछ बच्चों और महिलाओं की पोर्न तस्वीरें वायरल हो रही थी. आरोप है सोनभद्र जिले के अनपरा बाजार निवासी एक युवक तस्वीरों से छेड़छाड़ कर उन्हें सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर डाल रहा है. यही नहीं वह पीड़ित परिवारों को तस्वीरें दिखा कर ब्लैकमेल भी कर रहा था और पैसों की मांग कर रहा है.
इस बात की शिकायत दिल्ली में सीबीआई से की गई. जिस पर सीबीआई दिल्ली की टीम ने शुक्रवार को सोनभद्र के अनपरा में मुकदमा दर्ज कराया. टीम ने आरोपी को पकड़ने के लिए दबिश दी. लेकिन वह फरार हो गया. पुलिस ने आरोपी का मोबाइल बरामद कर लिया.
यह भी पढ़ें- अब इसलिए नहीं दिखाई दे रही हैं JNU छात्र नजीब को शहर-शहर सड़कों पर तलाशने वालीं उनकी मां फातिमा

मोबाइल  सर्विलांस के जरिए ठिकाने पर पहुंची सीबीआई

जानकारों की मानें तो सर्विलांस के जरिए सीबीआई टीम आरोपी के सोनभद्र के एक ठिकाने तक पहुंची. लेकिन  आरोपी सीबीआई के पहुंचने से पहले ही वहां से भाग चुका था. मौके से सीबीआई को कुछ स्मार्ट फोन मिले हैं.  जिसे कब्जे में लिया गया है. इसी में से एक नंबर सीबीआई को ऐसा मिला जिसे सर्विलांस पर लगाया गया. इसी नंबर के सहारे सीबीआई को आरोपी युवक की लोकेशन मिली.

आरोपी ऐसे बेचता था पोर्न मूवी

सूत्रों की मानें तो आरोपी इंटरनेट का मास्टर है. उसने यह धंधा चलाने के लिए अलग-अलग ईमेल आईडी का इस्तेमाल करता था. ऐसा वो इसलिए करता था जिससे की पुलिस उस तक आसानी से न पहुंच सके. आरोपी ने अलग आईएस के जरिए क्लाउड स्टोरेज और फाइल होस्टिंग सेवा पर कई खाते खोल रखे हैं. इन्हीं खातों की मदद से वो पोर्न मूवी बेचता है.

ब्लैकमेल करने पर पैसा नहीं मिला तो वायरल कर दी तस्वीर

सीबीआई को जांच में यह पता चला कि आरोपी ने पहले तो धोखे से बच्चों और महिलाओं की अश्लील तस्वीरें बना ली. फिर उनके परिजनों को दिखा कर ब्लैकमेल किया. पैसों की मांग की. रूपए मिलने के बाद आरोपी ने उन तस्वीरों को वॉट्सएप, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वॉयरल कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज