जब गाड़ी छोड़ दबे पांव अस्पताल पहुंचे डीएम, सीएमएस को लगाई फटकार

डीएम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए अस्पताल में अनुपस्थित डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों का 1 दिन का वेतन रोकने का आदेश दिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 22, 2018, 7:37 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: March 22, 2018, 7:37 PM IST
चित्रकूट में नवागंतुक जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर ने पैदल पहुंचकर जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया. इस औचक निरीक्षण से जिला अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मियों और अधिकारियों में हड़कंप मच गया. डीएम ने अस्पताल में गायब मिले डॉक्टर और कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने का आदेश जारी कर दिया.

जिलाधिकारी विशाख अय्यर सुबह 8:00 बजे अस्पताल से करीब 200 मीटर दूर गाड़ी खड़ी करके पैदल अस्पताल पहुंच गए. डीएम ओपीडी सहित दूसरे वार्डों का निरीक्षण करने लगे. इस दौरान कई डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी अस्पताल में नदारद मिले. जिसमें जिलाधिकारी ने सीएमएस को फटकार लगाई. डीएम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए अस्पताल में अनुपस्थित डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों का 1 दिन का वेतन रोकने का आदेश दिया.

डीएम ने इस तरीके की लापरवाही ना करने के लिए सीएमएस को सचेत किया. फिलहाल डीएम के औचक निरीक्षण करने का जो तरीका था, वह लोगों को भा गया है. मरीजों के साथ साथ बाहरी लोग उनके इस औचक निरीक्षण से खुश थे. अस्पताल के बाहर पान की दुकान लगाने वाले ने बताया कि अगर ऐसे ही जिलाधिकारी हफ्ते में एक या दो बार औचक निरीक्षण करते रहेंगे तो शायद जिला अस्पताल के हालात सुधर जाएंगे.

वहीं जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर का कहना है कि यह मेरा पहला औचक निरीक्षण था. जिसमें कई डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी नदारद मिले हैं. जिसमें उनके खिलाफ एक दिन का वेतन काटने की कार्रवाई की गई है. डीएम ने बताया कि रोजाना की बायोमेट्रिक अटेंडेंस की रिपोर्ट रोज उनके पास तलब की जाएगी. जिससे लापरवाह डॉक्टरों कर्मचारी का चेहरा सामने आएगा और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर