लाइव टीवी

चित्रकूट: खत्म हुआ 6 लाख के इनामी डकैत बबुली कोल का आतंक, गैंगवार में मारा गया

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 16, 2019, 11:21 AM IST
चित्रकूट: खत्म हुआ 6 लाख के इनामी डकैत बबुली कोल का आतंक, गैंगवार में मारा गया
कुख्यात डकैत बाबुली कोल (लाल घेरे में) के मारे जाने की खबर है.

गैंग के सदस्य डकैत लाले कोल द्वारा सरगना बबुली कोल को गोली मार दी गई. हालांकि पुलिस का दावा है कि उसने एनकाउंटर में बबुली कोल व उसके साथी को मार गिराया है.

  • Share this:
चित्रकूट. कई सालों से यूपी (Uttar Pradesh) और एमपी (Madhya Pradesh) पुलिस (Police) के लिए सिरदर्द बना कुख्यात डकैत बबुली कोल (Dacoit) का आतंक खत्म हो चुका है. बबुली कोल गैंगवार (Gangwar) में मारा गया. मध्य प्रदेश की सतना पुलिस ने बबुली कोल और उसके एक साथी का शव बरामद किया है. बबुली कोल के ऊपर 6 लाख का इनाम घोषित था. बताया जा रहा है कि 8 सितंबर को हरसेड गांव से किसान अवधेश के अपहरण के बाद उसने फिरौती वसूली थी. फिरौती की रकम बंटवारे को लेकर डकैतों के बीच विवाद हुआ. इस विवाद में गैंग के सदस्य डकैत लाले कोल द्वारा सरगना बबुली कोल को गोली मार दी गई. हालांकि पुलिस का दावा है कि उसने एनकाउंटर में बबुली कोल व उसके साथी को मार गिराया है.

कई बार हुआ बबली कोल और यूपी पुलिस का आमना-सामना

बता दें कि बबुली कोल और यूपी पुलिस के बीच कई बार आमना-सामना हुआ, लेकिन पुलिस को सफलता हाथ नहीं लगी. यही नहीं एक एनकाउंटर में पुलिस का दरोगा भी शहीद हो गया था, लेकिन बबुली कोल हाथ नहीं लगा. चित्रकूट इलाके में उसका काफी आतंक था.

dacoit babuli kol
बबुली कोल पुलिस को चकमा देने में माहिर था.


पुलिस को चकमा देने में था माहिर

वर्ष 2018 की फरवरी में चित्रकूट में डकैत बबुली से जंगलों में पुलिस की मुठभेड़ हुई थी. मारकुंडी थाना क्षेत्र के बंदरचुआ के बड़े जंगल में पुलिस के कॉम्बिंग के दौरान यह एनकाउंटर हुआ था. दोनों तरफ से आधे घंटे तक फायरिंग होती रही थी, लेकिन बाद में पता चला कि एनकाउंटर में बबुली कोल चित्रकूट पुलिस को एक बार​ फिर चकमा देकर फरार हो गया है. पुलिस ने एक राइफल तीन कारतूस एक मोबाइल सहित कई दैनिक उपयोग चीजों को बरामद की थी.

(इनपुट: अखिलेश)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्रकूट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 8:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...