चित्रकूट: 12 साल पहले किडनैप हुई लड़की का खुलासा-13 साल की उम्र में हुआ गैंगरेप, फिर 6 साल तक चला ये सिलसिला

गैंगरेप पीड़िता ने राजस्थान पुलिस पर भी बड़े गंभीर आरोप लगाए हैं. युवती का कहना है कि राजस्थान की पुलिस सेक्स रैकेट के धंधे में लिप्त लोगों से मिली हुई है और उन्हें संरक्षण देती है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 21, 2019, 1:43 PM IST
चित्रकूट: 12 साल पहले किडनैप हुई लड़की का खुलासा-13 साल की उम्र में हुआ गैंगरेप, फिर 6 साल तक चला ये सिलसिला
सांकेतिक तस्वीर
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 21, 2019, 1:43 PM IST
आबरू के सौदागरों के चंगुल से छूटकर आई एक युवती ने सनसनीखेज खुलासा किया है. चित्रकूट जनपद के कर्वी कोतवाली के अहिरन पुरवा क्षेत्र से 12 साल पहले किडनैप की गई लड़की का आरोप है कि उसके साथ 13 साल की उम्र में गैंगरेप हुआ और फिर 6 साल तक सैकड़ों लोगों ने उसे अपना शिकार बनाया. पीड़िता का आरोप है कि देह व्यापर के दलदल से निकलने के बाद उसने चित्रकूट पुलिस से भी न्याय की गुहार लगाई, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है. उसका आरोप है कि स्थानीय पुलिस उसके परिवार को डरा-धमका रही है.

गैंगरेप पीड़िता ने राजस्थान पुलिस पर भी बड़े गंभीर आरोप लगाए हैं. युवती का कहना है कि राजस्थान की पुलिस सेक्स रैकेट के धंधे में लिप्त लोगों से मिली हुई है और उन्हें संरक्षण देती है. पीड़िता ने चित्रकूट पुलिस पर भी अनदेखी का आरोप लगाया है.

रोज कम से कम 100 लोग करते थे रेप

पीड़िता ने न्यूज18 से बातचीत में खुलासा किया कि 13 साल की उम्र में अपहरण के बाद उसके साथ गैंगरेप हुआ. उसके बाद करीब 6-7 साल तक रोज तकरीबन 100 लोग उसके साथ रेप करते थे. अब तक लाखों लोग मेरे साथ रेप कर चुके हैं. इसके अलावा जिन्होंने किडनैप किया था उसनके घर वाले भी रेप करते थे. जिनमे बेटे, भाई, पति सब शामिल थे.

रेप पीड़िता


इंजेक्शन, कैप्सूल और प्रोटीन पाउडर दिए जाते थे

पीड़िता ने बताया कि उम्र से ज्यादा बड़ा दिखाने के लिए उसे वे लोग इंजेक्शन, कैप्सूल और प्रोटीन पाउडर देते थे. पीड़िता के मुताबिक उसने आस-पास के लोगों से मदद मांगने की भी कोशिश की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. सब उन्हीं के लोग थे. पुलिस वालों के पास जाने पर वे खुद उन्हें उनके यहां छोड़कर चले जाते थे.
Loading...

राजस्थान सरकार कार्रवाई करे तो बच सकती है सैकड़ों लड़कियों की जिंदगी

पीड़िता के मुताबिक उसके जैसी सैकड़ों लड़कियां वहां हैं. अगर राजस्थान सरकार उसकी मदद करे तो उन अल्द्कियों की जिन्दगी बच सकती है.

राजस्थान पुलिस आरोपियों को दे रही संरक्षण

पीड़िता का आरोप है कि उसकी तरह की सैकड़ों लड़कियां आज भी अजमेर के सावर गांव में फंसी हुई हैं, जिनसे जबरन देहव्यापार का धंधा करवाया जा रहा है. उसका आरोप है कि राजस्थान पुलिस सब कुछ जानते हुए भी देह के सौदागरों को संरक्षण दे रही हैं. पीड़िता के मुताबिक देह के सौदागर नाबालिग बच्चियों को बालिग करने के लिए नशीला पदार्थ खिलाते हैं, फिर उन्हें ग्राहकों के सामने परोस दिया जाता है.

एक शख्स ने अपनी संपत्ति बेचकर पीड़िता को छुड़ाया

पीड़िता के मुताबिक एक शख्स की मदद से वह दोबारा अपने परजनों से मिल सकी है. उसकी मदद करने वाले शख्स ने अपनी 40 लाख रुपये की संपत्ति बेचकर उसे देह व्यापार के चंगुल छुड़वाया.

पुलिस अब पुराने केस खोलने की कह रही बात

मामले में जिले के एसपी मनोज कुमार झा से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मीडिया के द्वारा मामला संज्ञान में आया है. पीड़ित के घर पुलिस टीम भेजी जा रही है. मामले की जांच करवाकर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा. एसपी ने कहा कि 2008 में लिखाए गए अपहरण के मुकदमों को भी फिर से खोला जाएगा. साथ ही केस की नए सिरे से विवेचना की जाएगी.

चित्रकूट एसपी मनोज कुमार झा


एसपी के मुताबिक जब लड़की का अपहरण हुआ था तब वह आठ साल की थी. अपहरण के बाद जब वह बड़ी हुई तो उसे वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेल दिया गया. वहीं पर उसे एक लड़के से प्यारा हुआ और उसने उसे वहां से बाहर निकाला. इसके बाद लड़की खुद को कर्वी का रहने वाला बताया. लड़के ने कर्वी नाम की जगह को खोजा और पुलिस से संपर्क किया. एसपी के मुताबिक गुमशुदगी का एक केस 2008 में दर्ज हुआ था. जिसमें बाद में फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई थी. अब उस मामले में लड़की से लिखित शिकायत लेकर फिर से केस खोला जाएगा. लड़की के बताए गए डिटेल्स पर राजस्थान पुलिस से भी बात हुई है. उन्होंने जानकारी दी है कि आरोपी इस तरह का काम करते हैं. एक टीम भी राजस्थान भेजी जा रही है.

(इनपुट: अखिलेश सोनकर)

ये भी पढ़ें:

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस: राज्यपाल, CM योगी समेत हजारों ने किया योगासन

सावधान! भीम, पेटीएम व गूगल पे भी नहीं रहा सुरक्षित, इस तरह सेंधमारी कर रहे ठग

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्रकूट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...