चित्रकूट जेल शूटआउट: मारे गए अपराधियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, पढ़िए किसे लगी कितनी गोलियां

सवालों के घेरे में जेल प्रशासन

सवालों के घेरे में जेल प्रशासन

Chitrakoot Jail Gangwar: पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मुकीम काला को 9 एमएम की पांच गोलियां मारी गई थी. मुकीम के सिर, छाती और वाइटल ऑर्गन्स पर गोलियां मारी गई थी. 

  • Share this:

चित्रकूट. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चित्रकूट जेल में(Chitrakoot Jail)  हुए सनसनीखेज शूटआउट (Shootout) में मारे गए अपराधियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मेराज और मुकीम काला को पॉइंट 9 एमएम की गोलियां लगी थी. मेराज को 9 एमएम की दो गोलियां लगी थी, जबकि मुकीम काला को पांच गोलियां मारी गई थी. वहीं दोनों की हत्या करने वाले अंशु दीक्षित की मौत पुलिस एनकाउंटर में चार गोलियां लगने से हुई.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक मेराज को एक गोली उसके सिर और दूसरी पीठ से दाखिल होकर पेट से निकल गई थी. वहीं जेल सूत्रों के मुताबिक गोली मारने से पहले अंशु ने मेराज को गालियां दी और भागने को कहा. मेराज के भागने पर अंशु ने फायरिंग शुरू कर दी थी. दो गोलियां मेराज को लगी और

वह मौके पर ही ढेर हो गया था.

मुकीम काला को मारी गई गोलियां
पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मुकीम काला को 9 एमएम की पांच गोलियां मारी गई थी. मुकीम के सिर,

छाती और वाइटल ऑर्गन्स पर गोलियां मारी गई थी. अंशु दीक्षित को शॉर्प शूटर कहा जाता था. लिहाजा अंशु को पता था कि किसको कहां पर गोलियां मारनी है. लिहाजा अंशु ने कुख्यात मुकीम को 5 गोलियां मारी जिससे मुकीम की मौके पर ही मौत हो गई. मौके से बरामद 9 एमएम की पिस्तौल मेड इन टर्की बताई जाती है. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि 9 एमएम की ग्लॉक पिस्टल से हत्या हुई, जबकि कुछ लोगों का कहना है कि यह टर्की की जिगाना पिस्टल है, जिसमें 18 राउंड की मैगजीन होती है.

अंशु को लगी चार गोलियां



उधरअंशु की मौत 4 गोलियों से हुई, जो 5.56 एमएम इंसास और 7.62 एमएम एके-47 की थी. आपको बताते चलें चित्रकूट जेल में अंशु दीक्षित नामक बंदी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश मुकीम काला और मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी के करीबी मेराज की गोली मारकर हत्या कर दी थी जिसके बाद पुलिस एनकाउंटर में अंशु दीक्षित भी मारा गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज