एंबुलेंस के इंतजार में रास्ते में ही हो गया प्रसव, प्रसूता की मौत

एंबुलेंस में प्रसूता को प्रसव के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवरामपुर लाया जा रहा था जहां अस्पताल के पहुंचने के थोड़ी दूर ही पहले महिला का प्रसव हो गया.

News18Hindi
Updated: April 9, 2018, 10:50 PM IST
News18Hindi
Updated: April 9, 2018, 10:50 PM IST
यूपी के चित्रकूट में स्वास्थ विभाग के लापरवाही के चलते मौतों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला कर्वी तहसील के इटखरी गांव के नेता गोवा का है. जहां एक प्रसूता की एंबुलेंस के इंतजार में मौत हो गई.

दरअसल राजा बेटी नाम की प्रसूता महिला को प्रसव के लिए शिवरामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाना था. जिसके लिए प्रसूता महिला के पति रामचंद्र यादव ने सुबह 108 नंबर पर फोन लगा कर  एंबुलेंस बुलाया था. लखनऊ में बैठे एंबुलेंस के कर्मी थोड़ी देर में एंबुलेंस भेजने की बात कह कर फोन रख देते थे.

ऐसा करते-करते शाम हो गई और तब जाकर के एंबुलेंस गांव पहुंची. एंबुलेंस में प्रसूता को प्रसव के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवरामपुर लाया जा रहा था जहां अस्पताल के पहुंचने के थोड़ी दूर ही पहले महिला का प्रसव हो गया. इसी दौरान ज्यादा ब्लीडिंग हो जाने के कारण प्रसूता महिला की मौत हो गई.

जहां परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर को दिखाया तो डॉक्टरों ने बहाना बनाते हुए उसको वार्ड में लिटा दिया और थोड़ी देर में मृत घोषित कर दिया. वहीं बच्चे को गंभीर हालत में आईसीयू में भर्ती कराया गया है. महिला के मृत होते ही परिजनों ने अस्पताल में हंगामा काटना शुरू कर दिया.  इस मामले में जिला अधिकारी ने संज्ञान लेते हुए मौके पर मुख्य विकास अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मौके पर जांच कर कारवाई करने के आदेश दिए हैं.

ये भी पढ़ें

घायल साथी की मौत से गुस्साए छात्रों ने स्कूल बस पर किया पथराव
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर