हमीरपुरः अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद हंगामा, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

परिजनों के अनुसार डिलीवरी के दौरान अस्पताल में प्रसव पीड़िता की कोई गलत नस काट दी गई, जिससे नार्मल डिलीवरी के बाद भी प्रसूता की ब्लीडिंग बंद नहीं हुई और भारी मात्रा में शरीर से खून निकलने से उसकी मौत हो गई

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 13, 2018, 11:12 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 13, 2018, 11:12 PM IST
हमीरपुर जिले में सोमवार को अस्पताल में डिलीवरी के बाद एक प्रसूता की मौत होने से परिजनों ने जमकर हंगामा किया. परिजनों ने अस्पताल के चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए मृतका के शव को हाइवे पर घंटों प्रदर्शन किया. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा अस्पताल स्टाफ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के बाद परिजन शांत हुए, फिर जाकर ट्रैफिक सामान्य हो हुआ.

यह भी पढ़ें-हमीरपुर: मिडडे मील में दूषित दूध पीने से 12 बच्चों की हालत बिगड़ी, अध्यापक फरार

रिपोर्ट के मुताबिक मामला राठ कोतवाली कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का है, जहां बीती देर रात को शिक्षामित्र बालकुंवर को प्रसव के लिए परिजनों ने भर्ती कराया था. नार्मल डिलीवरी में प्रसूता ने लड़के को जन्म दिया, लेकिन डिलीवरी के बाद जब प्रसूता की ब्लीडिंग बंद नहीं हुई, तो परिजनों ने अस्पताल स्टाफ को मामले की सूचना दी, लेकिन अस्पताल कर्मियों की लापरवाही से प्रसूता का काफी खून बह गया.

बताया जाता है प्रसूता की हालत बिगड़ती देख परिजनों ने अस्पताल में हंगामा करना शुरू कर दिया और जब तक डाक्टर अस्तपाल पहुंचते प्रसूता की हालत गंभीर हो चुकी थी, जिसको देखते हुए प्रसूता को डाक्टरों ने तुरंत झांसी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया, लेकिन रास्ते में ही पीड़िता की दर्दनाक मौत हो गई.

यह भी पढ़ें-हमीरपुर में ब्लड कैंसर से जूझ रही कॉलेज छात्रा की मदद के लिए तीन मित्र आगे आए

परिजनों के अनुसार डिलीवरी के दौरान अस्पताल में प्रसव पीड़िता की कोई गलत नस काट दी गई, जिससे नार्मल डिलीवरी के बाद भी प्रसूता की ब्लीडिंग बंद नहीं हुई और भारी मात्रा में शरीर से खून निकलने से उसकी मौत हो गई. पीड़िता की मौत से गुस्साए परिजनों ने बाद में मृतका का शव राठ-हमीरपुर स्टेट हाइवे पर रखकर जमकर प्रदर्शन किया.

पूरे मामले पर सीओ ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर अस्पताल स्टाफ के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है और जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी.

(रिपोर्ट- उमाशंकर मिश्रा, हमीरपुर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर