अपना शहर चुनें

States

चित्रकूट: जंगल में मिला तेंदुए का शव, ग्रामीणों ने लगाया वन विभाग पर मारने का आरोप

जंगल से बरामद मादा तेंदुए का शव. Photo: ETV/News18
जंगल से बरामद मादा तेंदुए का शव. Photo: ETV/News18

चित्रकूट के मानिकपुर थाना क्षेत्र के खंभा पुरवा गांव में उस वक्त हड़कम्प मच गया, जब एक मादा तेंदुए का शव जंगल मे पड़ा हुआ मिला.

  • Share this:
विलुप्त हो रहे जीवों को बचाने के लिए सरकार उनके संरक्षण के लिए तमाम तरीके से प्रयास कर रही है. वहीं चित्रकूट में लकड़ी के अवैध कटान में बाधा बनने पर तेंदुए की हत्या करने का आरोप वन अधिकारियों पर ही लगा है. आरोप है कि लकड़ी अवैध कटान के लिए तेंदुए को जहरीला पदार्थ देकर मार दिया गया. उधर वन विभाग के अधिकारी इस आरोप को सिरे से नकारते हैं. मामले में तेंदुए के शव का पोस्टमॉर्टम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया गया है.

चित्रकूट के मानिकपुर थाना क्षेत्र के खंभा पुरवा गांव में उस वक्त हड़कम्प मच गया, जब एक मादा तेंदुए का शव जंगल मे पड़ा हुआ मिला. ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए बताया है कि जंगलो में वन रेंजर की शह पर लकड़ी का अंधाधुंध अवैध कटान होता है. उस क्षेत्र में तेंदुए के डर के चलते लकड़ी का अवैध कटान में समस्याएं आ रही थीं. ग्रामीणों ने वन रेंजर पर तेंदुआ को कुछ जहरीला पदार्थ देकर मारने के आरोप लगाया है.

जिला फारेस्ट अधिकारी आरके त्रिपाठी ने बताया कि ने तेंदुआ के शव को पोस्टमार्टम कराकर उसका अंतिम संस्कार करा दिया है. शुरुआती जांच में तेंदुए के शरीर पर किसी चोट आदि के निशान नहीं मिले हैं. शव सड़ने लगा है, लिहाजा माना जा रहा है कि एक से दो दिन पहले इसकी मौत हुई है.



तेंदुए को मरवाने की बात पर उन्होंने कहा कि ये आरोप बेबुनियाद हैं. अगर तेंदुए को मरवाया जाता तो उसकी त्वचा, नाखून से लेकर तमाम चीजें लोग ले गए होते. ​ऐसा नहीं है. बाकी डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमॉर्टम किया है. रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट हो सकेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज