Assembly Banner 2021

चित्रकूट: पुलिसकर्मी खुद कर रहे हैं कोरोना की ड्यूटी, परिवार को दिया योग का ‘रक्षा कवच’

पुलिस लाइंस में पुलिसकर्मियों के परिजनों को आसन कराती हुईं भारत स्‍वाभिमान की महामंत्री मीरा श्रीवास्‍तव.

पुलिस लाइंस में पुलिसकर्मियों के परिजनों को आसन कराती हुईं भारत स्‍वाभिमान की महामंत्री मीरा श्रीवास्‍तव.

पतंजलि योग समिति (Patanjali Yoga Samiti) द्वारा आयोजित इस 7 दिवसीय योग सत्र (yoga session) में जनपद मुख्‍यालय में तैनात पुलिस कर्मियों के परिवार की महिलाओं और बच्‍चों ने हिस्‍सा लिया है.

  • Share this:
चित्रकूट. COVID-19 के खिलाफ जारी जंग में कोरोना वारियर बने उत्‍तर प्रदेश पुलिस के जवानों ने अपने परिजनों को इस महामारी से बचने के लिए एक खास रक्षा कवच दिया है. दरअसल, हम बात उत्‍तर प्रदेश के चित्रकूट की बात कर रहे हैं. जहां पुलिस कर्मियों के परिजनों योग के सहारे खुद को इस महामारी से बचाने का प्रयास कर रहे हैं. पुलिस कर्मियों का यह प्रयास सही दिशा में हो, इसके लिए उन्‍हें एक सप्‍ताह का विशेष प्रशिक्षण भी दिया गया है. पतंजलि योग समिति द्वारा आयोजित इस 7 दिवसीय योग सत्र में जनपद मुख्‍यालय में तैनात पुलिस कर्मियों के परिवार की महिलाओं और बच्‍चों ने हिस्‍सा लिया है.

प्रतिसार निरीक्षक निरीक्षक सुमेर सिंह ने अनुसार, योग सत्र का आयोजन 15 अप्रैल से 21 अप्रैल के बीच चित्रकूट पुलिस लाइंस में किया गया था. इस सात दिवसीय सत्र संचालन, भारत स्‍वाभिमान की महामंत्री मीरा श्रीवास्‍वत, पतंजलि योग समिति चित्रकूट की जिला महिला प्रभारी मंजू केसरवानी, युवती प्रभारी मीरा चौरसिया और पतंजलि योग समिति की सदस्‍या मनीषा केसरवानी द्वारा किया गया था. योग सत्र के दौरान, बल सदस्‍यों के परिवार की महिलाओं और बच्‍चों को विशेष रूप से शामिल किया गया था. इस सत्र को आयोजित करने का मुख्‍य उद्देश्‍य कोरोना से जंग लड़ रहे बल सदस्‍यों के परिजनों में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना था.

भारत स्‍वाभिमान की महामंत्री ने बताया कि सात दिवसीय योग शि‍विर के दौरान, रोजाना करीब डेढ़ घंटे का योग सत्र आयोजित किया जाता था. सत्र के दौरान, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए जवानों एवं अधिकारियों के परिजनों को शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आसनों का प्रशिक्षण दिया गया. इनमें प्राणायाम, मस्त्रिका, कपाल भारती, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी उद्गीथ, सूर्य नमस्‍कार जैसे कई योग शामिल थे. इन योग आसनों के अतिरिक्‍त सत्र में भाग लेने वाली महिलाओं एवं बच्‍चों को जीवन शैली से जुड़े प्रमुख आसनों के बारे में भी प्रशिक्षण दिया गया. इसके अलावा, मौजूदा हालात में खानपान से जुड़ी सावधानियों के बाबत भी बल सदस्‍यों के परिजनों को जानकारी दी गई.

यह भी पढ़ें: 



चित्रकूटधाम के 4 जिलों के लिए ‘रक्षा कवच’ बनी IPS दीपक कुमार की यह रणनीति
कोरोना वारियर के कशमकश की Exclusive कहानी: गौरव कभी पत्नी को देखते, तो कभी बेटे को, फिर...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज